Rekha The Untold Story : मुझे मेरा एकांत प्रिय है, जैसे प्रिय से मिलना एकांत में

Rekha
इश्क़, कभी न ख़त्म होने वाला सिलसिला

 

तेरी तलाश में वक़्त का कोई लम्हा
जब किसी सवाल की रूह में उतरता है
तो जवाब एक ज़बान हो जाता है
जहां आंसू के मायने मेरा दर्द
और खुशी के मायने तेरा मुस्कुराना हो जाता है

एक जवाब खुशबू में उतरा
तो मेरी मोहब्बत हरसिंगार से ढंकी सुबह की ज़मीन हो गयी
और रात रानी की तरह तेरा ज़िक्र निकलता रहा

और यही जवाब जब आँखों की रोशनी में उतरता है
तो अँधेरा तेरी जुल्फें
और उजाला मेरी आरज़ू हो जाता है

कभी ये जवाब आसमान पर चढ़ता है
तो माहताब तेरी बातें
और आफताब मेरी जूस्तजूं हो जाता है

आज ये जवाब मेरी रूह में उतर आया है
तो सवाल बन बैठा है मेरे वजूद का
क्या मोहब्बत यही होती है
कि जब रूह पानी में और बदन आग में तब्दील हो जाता है

गर हाँ तो मैं फिर कहता हूँ
हां हमें मोहब्बत है…. मोहब्बत है… मोहब्बत है…
अब दिल में यही बात, इधर भी है, उधर भी…..
…………………………………………………….

एक इजाज़त दे दो बस
************************
तुम्हारे सीने से उतरते झरने
जब मुंह फेर के सो जाते हैं
तो पीठ पर रेगिस्तान से
उग आते हैं….

बिस्तर पर मेरा हाथ
पगडंडी सा गुज़रता है
और ख्वाब तुम्हें छू कर
लौट आते हैं….

जानती हूँ
झरने रेगिस्तान की ओर नहीं मुड़ते
लेकिन प्रेम की नदी तो
उलांघ लेती है
सारी बाधाओं को…

तुम्हें यकीन ना हो तो देख लो
मेरी देह पर उगे
बारामासी फूल
हमेशा तुम्हारी रेतीली पीठ की ओर
मुंह किए रहते हैं सूरजमुखी की तरह …

झरने ना सही
मरीचिकाएँ तो दिखती ही है
तपते रेगिस्तान में…
चलो तुम्हारे इसी रेगिस्तान में दफना आती हूँ
इश्क़ के बीज….

बस एक इजाज़त दे दो
जब इनको दफनाऊँगी
मैं भी वहीं सो जाऊंगी
मैं भी वहीं सो जाऊंगी………….

– माँ जीवन शैफाली

इसे भी पढ़ें

 

Rekha The Untold Story : रेखा, विरह का सबसे सुन्दर अधूरा गीत

Rekha The Untold Story : रेखा, बदलते दैहिक अनुभव के बीच एक तटस्थ आत्मा

Rekha The Untold Story : नायिका तत्व ही रेखा की असली कमाई है

Rekha, The Untold Story : सारी असफल प्रेम कहानियों की सबसे सफल नायिका

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY