अरुणाचल में एयरफोर्स का हेलीकॉप्टर क्रैश, 5 की मौत

तवांग. अरुणाचल प्रदेश के तवांग के नजदीक एयरफोर्स का हेलीकॉप्टर M17 V5 क्रैश हुआ है. हेलीकॉप्टर रूटीन ट्रेनिंग पर था. इसमें 5 लोगों की मौत हो गई है और 1 की हालत गंभीर है. उल्लेखनीय है कि आगामी 8 अक्टूबर को ही वायुसेना दिवस मनाया जाएगा. उससे पहले इतनी बड़ी दुर्घटना से तनाव का माहौल है. वायुसेना ने दुर्घटना की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दिया है.

वायुसेना ने मौके पर राहत टीम भेज दी है. हादसा अरुणाचल प्रदेश के तवांग के पास खिरमू इलाके में हुआ. इससे आर्मी के लिए एयर मेंटेनेंस का सामान ले जाया जा रहा था. हादसा सुबह 6 बजे हुआ.

बृहस्पतिवार को एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने प्रेस कान्फ्रेंस में कहा था कि शांति के समय में भी जवानों की मौत होना काफी चिंताजनक है. हम एक्सिडेंट को कम करने के लिए जरूरी कदम उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारे पास अभी कम संख्या में फाइटर हैं, लेकिन हम किसी भी तरह के टास्क को पूरा करने में सक्षम हैं.

पिछले महीने की 28 तारीख को ही भारतीय वायु सेना का एक प्रशिक्षु विमान अपने नियमित मिशन के दौरान हैदराबाद में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इसमें पायलट सुरक्षित बच गया था. इस विमान ने करीब पौने ग्यारह बजे, हैदराबाद के हकीमपेट वायु सेना स्टेशन से नियमित प्रशिक्षण मिशन के लिए उड़ान भरी थी.

इससे पहले भी अरुणाचल प्रदेश में 23 मई को सुखोई-30 एमकेआई विमान लापता हो गया था और बाद में उसका मलबा बरामद हुआ था. 23 मई को दिन में साढ़े 10 बजे तेजपुर एयरबेस से उड़ान भरने के बाद तकरीबन 11 बजकर 10 मिनट पर इस विमान का रडार से संपर्क टूट गया था.

1970 के दशक में लड़ाकू विमानों के दुर्घटनाग्रस्त होने के मामले काफी ज्यादा थे, लेकिन अब इनमें कमी आई है. साल 1970 में करीब 50 विमान क्रैश हुए थे, जबकि साल 1980 में इनकी संख्या 40 तक पहुंची. साल 1990 तक वायुसेना के दुर्घटनाग्रस्त होने के मामलों में और कमी आई और ये संख्या घटकर 30 तक पहुंच गई, लेकिन साल 2000 के बाद अब यह संख्या 11 से 12 के बीच आ गई.

इस साल अरुणाचल प्रदेश में 23 मई को सुखोई-30 एमकेआई विमान लापता हो गया था. बाद में इसका मलबा बरामद हुआ. इसके अलावा 15 मार्च 2017 को सुखोई लड़ाकू विमान राजस्थान में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें तीन लोग घायल हो गए.

तीन साल पहले 20 सितंबर 2014 को चंडीगढ़ में एयरक्राफ्ट ने क्रैश लैंडिंग की. इसके चलते विमान में आग लग गई. मई 2014 को वायुसेना का MiG-21 लड़ाकू विमान जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग में क्रैश हो गया, जिसमें पायलट की मौत हो गई.

इसी साल 28 मार्च 2014 को C-130J सुपर हर्क्यूलिस स्पेशल ऑपरेशन ट्रांसपोर्ट ट्रेनिंग के दौरान क्रैश हो गया. इसमें चालक दल के पांच लोगों की मौत हो गई. 22 जनवरी 2014 को जगुआर लड़ाकू जेट राजस्थान के बीकानेर जिले में क्रैश हो गया. हालांकि इसमें पायलट और सह पायलट सुरक्षित निकलने में कामयाब रहे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY