वाराणसी में जातिगत आरक्षण के खिलाफ छात्र ने की आत्मदाह की कोशिश

वाराणसी. जाति आधारित आरक्षण के स्थान पर आर्थिक आधार पर कोटा दिये जाने की मांग को लेकर एक युवक ने आत्मदाह करने की कोशिश की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय कार्यालय की ओर मार्च कर रहे इस 23 वर्षीय छात्र ने पुलिस द्वारा रोके जाने पर यह प्रयास किया.

भेलूपुर के क्षेत्राधिकारी अयोध्या प्रसाद सिंह ने बताया कि यूपी कॉलेज के बीए तृतीय वर्ष के छात्र अविनाश आनंद जाति आधारित आरक्षण के खिलाफ बीएचयू गेट (सिंहद्वार) से रविंद्रपुरी स्थित प्रधानमंत्री के कार्यालय तक एक जुलूस की अगुवाई कर रहे थे.

उन्होंने बताया कि जब पुलिसकर्मियों ने जुलूस को रोकने की कोशिश की तो वे धरना पर बैठ गए. इस दौरान आनंद ने आत्मदाह की कोशिश की. अधिकारी के मुताबिक पुलिसकर्मियों और आनंद के दोस्तों ने आग बुझाई और उसे नजदीकी अस्पताल पहुंचाया.

सिंह ने बताया कि आनंद मामूली रूप से जख्मी हुआ और उसका उपचार चल रहा है. पुलिस ने जुलूस में शामिल चार अन्य लोगों को हिरासत में ले लिया. उन्होंने बताया कि जांच चल रही है.

पुलिस के सामने हुई इस घटना के बाद अफतरातफरी मच गयी. आनन-फानन में पुलिस ने आग बुझाकर युवक को मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया. युवक का दाहिना हाथ झुलस गया है. चिकित्सक के अनुसार उसकी हालत खतरे से बाहर है.

अविनाश आनंद यूपी कॉलेज का पूर्व छात्र नेता रहा और वह ‘आर्थिक आधारित आरक्षण समर्थक समाज’ का जिलाध्यक्ष है. भेलूपुर पुलिस ने अविनाश समेत पांच को आत्महत्या के प्रयास व धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है.

इससे पहले अविनाश और उसके संगठन के करीब डेढ़ सौ युवकों ने सुबह 10.45 बजे लंका स्थित रविदास गेट से जुलूस निकाला. बैनर तख्तियां लिये युवक जातिगत आरक्षण समाप्त करने के समर्थन में नारेबाजी करते हुए चल रहे थे. जुलूस रवींद्रपुरी एक्सटेंशन से पद्मश्री चौराहा की ओर बढ़ा तभी वहां पहले से बैरिकेडिंग लगाकर मौजूद पुलिसकर्मियों ने युवकों को रोक लिया.

इस पर प्रदर्शनकारी जनसम्पर्क कार्यालय जाने की जिद पर अड़ गये. पुलिस अभी युवकों को समझाने की कोशिश कर रही थी तभी अवनिाश आंनद से जेब से ज्वलनशील पदार्थ से भरी शीशी निकाली. उसमें का तरल पदार्थ अपने ऊपर उड़ेला और आग लगा ली. यह देख जुलूस में शामिल कुछ लोग और पुलिसकर्मी आग बुझाने में जुट गये. अन्य लोग भागने लगे.

हालांकि अस्पताल में भर्ती अविनश आंनद और उसके साथियों का कहना है कि वे धरने पर बैठे थे तभी किसी ने पीछे से ज्वलनशील पदार्थ फेंक दिया जिससे वह झुलस गया. चिकित्सक के अनुसार अविनाश चार प्रतिशत झुलसा है. पुलिस ने मौके से बीएचयू के एमजे के छात्र व पिंडरा निवासी गौरीश सिंह, चोलापुर क्षेत्र के भुसौला के देवेंद्र सिंह, छतांव के आशु व हरेंद्र कुमार को हिरासत में ले लिया है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY