माँ की रसोई से : जहां रोज़ खुशियाँ पकती हैं

Ma Ki Rasoi Se

यह सिर्फ़ डायनिंग टेबल नहीं खुशियों का रंगमंच है. आप लोगों ने प्लायवुड का यह विज्ञापन टीवी पर देखा हे होगा. जिसमें नाना पाटेकर ने अभिनय किया है. और उन्हें ये विज्ञापन भी उनकी इमेज के अनुरुप ही मिला है. इसलिए जब नाना पाटेकर यह कहते हैं कि यह सिर्फ़ एक टेबल नहीं बल्कि रंगमंच है तो बात बहुत सटीक लगती है. क्योंकि मैं भी यही कहती हूँ कि माँ की रसोई में भी रोज़ खुशियाँ पकती हैं.

यही वो स्थान है जहां दिन भर में कम से कम एक बार पूरा परिवार इकट्ठा होता है. और घर की महिलाएं इस सोच के साथ भोजन तैयार करके खिलाती है कि सबका भरपूर पोषण हो, भोजन स्वास्थ्यवर्धक हो और सबसे बड़ी बात भोजन स्वादिष्ट भी हो.

लेकिन पूरी कोशिश के बावजूद घर के सभी सदस्यों को एक साथ संतुष्ट करना मुश्किल हो जाता है. ऐसे में एक कुशल गृहणी की भूमिका शुरू होती है कि उपलब्ध सामग्री से कैसे सभी की मांग को पूरा किया जाए. ऐसे में छोटी छोटी टिप्स के साथ काम आती है आपकी रचनात्मकता.

आप चाहे सिर्फ़ एक गृहणी हैं या कामकाजी महिला, चाहे कोई सेलेब्रिटी, लेकिन जब आप घर पर होती हैं, तो होती है सिर्फ़ गृहलक्ष्मी, अन्नपूर्णा. यहां पर यह बात उन महिलाओं पर भी लागू होती है जो खुद को आम घरेलू महिलाओं से अलग शख्सियत मानती है, और चूल्हे चक्की से खुद को दूर रखना पसंद करती है. क्योंकि उनके साथ भी ये मौका जीवन में कई बार आता होगा जब उन्हें कलम और लैपटॉप छोड़ कड़छी और चम्मच उठाना पड़ गया होगा.

पहले के जमाने में बच्चा जब खाना नहीं खाता था तो रोटी पर घी मक्खन और शक्कर लगाकर पुंगी बनाकर खिला दी जाती थी, और बच्चे खुशी खुशी खा भी लेते थे. आजकल बाज़ार में उसी रोटी पर लगाने के लिए इतनी चीज़ें मिलने लगी है और उसको एक आधुनिक नाम भी दे दिया गया है, रोल या रैप. चीज स्प्रेड, मेयोनीज से लेकर पिज़्ज़ा सॉस और विविध प्रकार के जैम.

आप यदि यह सोच रही है कि यह स्वास्थवर्धक नहीं तो हम बता दें अति तो हर चीज की बुरी होती है. आपको यह सब चीजें न तो एकसाथ लगाना है, न अकेले. आपको बस यह करना है कि आपका बच्चा जो भी पौष्टिक सब्ज़ी खाने में कतराता हो उस सब्ज़ी को इस रोटी के रोल या रैप के रुप में प्रस्तुत कीजिए. सब्ज़ी के बीच में डालिए थोड़ी सी चीज या मेयोनीज, कटा प्याज और थोड़ा सा कैच अप. लीजिए तैयार है आपका स्वादिष्ट कद्दू का रोल या किसी भी फली का रैप. और आपके बच्चे को पता भी नहीं चलेगा कि उन्होंने आज कद्दू खा लिया या लौकी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY