गांधी, नेहरू, पटेल, अंबेडकर सभी थे NRI, देश को NRI की ज़रूरत

न्यू यॉर्क. पिछले आम चुनाव में कांग्रेस की तरफ से प्रधानमंत्री पद के अघोषित दावेदार राहुल गांधी ने न्यू यॉर्क के ऐतिहासिक टाइम्स स्क्वॉयर में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. राहुल ने कांग्रेस को एक NRI (अनिवासी भारतीय) आंदोलन बताते हुए कहा कि आजादी के आंदोलन में योगदान देने वाले गांधी, नेहरू, पटेल, अंबेडकर से लेकर आजाद तक सभी एनआरआई थे.

दरअसल कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों अमेरिका दौरे पर हैं. भारत में अपनी छवि (?) चमकाने के लिए राहुल अमेरिका के विश्वविद्यालयों के छात्रों से लेकर उद्योगपतियों तक से संवाद कर रहे हैं. इसी कोशिश में राहुल ने अमेरिका में अनिवासी भारतीयों के बीच कांग्रेस की पैठ बनाने के लिए NRIs को संबोधित किया.

इस मौके पर भी राहुल बिना नाम लिए केंद्र सरकार और आरएसएस पर निशाना साधना नहीं भूले. उन्होंने कहा कि ‘विभाजनकारी ताकतें’ भारत की शांति और एकता के लिए खतरा बन रही हैं. राहुल ने कहा, ‘हजारों साल से भारत की पहचान शांति और समरसता वाले देश के तौर पर रही है. अब इसे चुनौती दी जा रही है. हमारे देश में ही कई ऐसी ताकतें हैं जो भारत को बांटने की कोशिश कर रही हैं. यह हमारे देश के लिए काफी खतरनाक है. इससे दुनिया में हमारी प्रतिष्ठा को बट्टा लग रहा है.’

राहुल ने टाइम्स स्क्वॉयर में भारतीय समुदाय के लोगों से कहा कि देश को आपकी जरूरत है. आप अच्छे विचारों के साथ आएं और देश के लिए काम करें. राहुल ने गांधी, नेहरू, पटेल, अंबेडकर से लेकर आजाद तक के योगदान का जिक्र किया और कांग्रेस के असली आंदोलन को NRI मूवमेंट बताया. राहुल ने कहा, NRI भारत की रीढ़ है और देश को उनकी जरूरत है.

राहुल ने कहा, महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, डॉक्टर अंबेडकर, मौलाना आजाद सभी एनआरआई थे. आजादी के आंदोलन में इन सभी लोगों की अहम भूमिका रही है. कांग्रेस का असली आंदोलन NRI मूवमेंट था.

राहुल ने कहा महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, डॉक्टर अंबेडकर, मौलाना आजाद सहित सभी लोग विदेशों में रहे और दुनिया को देखा, समझा और जाना. इसके बाद ये सभी लोग फिर अपने वतन भारत लौटे और देश के लिए काम किया.

राहुल ने कहा, भारत की सबसे बड़ी सफलताओं में से एक श्वेत क्रांति है, जिसे प्रवासी भारतीय वर्गीज़ कुरियन ने संभव बनाया. इसी तरह सैम पित्रोदा जैसी शख्सियत जो विदेश में काम करने के बाद भारत में आए और भारतीय सूचना क्रांति में अपनी अहम भूमिका अदा की.

राहुल ने अमेरिका में रह रहे भारतीयों से कहा कि आप लोग अच्छा काम कर रहे हैं. भारत में काफी काम करने की जरुरत है, मैं आप लोगों को आगे आने और आगे बढ़ने का दृष्टिकोण बताने को आमंत्रित करता हूं. आप लोग भारत आएं और कांग्रेस के साथ मिलकर देश के लिए काम करें.

उन्होंने कहा कि भारत की सबसे बड़ी संपत्ति उसके 1.3 अरब लोग हैं, जो खुशी-खुशी, अहिंसा के रास्ते पर चलते हुए शांतिपूर्ण ढंग से रहते आ रहे हैं और यह कांग्रेस पार्टी और उसके विचारों के कारण हुआ है. राहुल ने आगे कहा कि विभाजनकारी राजनीति में पड़ने के बजाए भारत को दुनिया के दूसरे देशों के लिए एक मिसाल पेश करनी चाहिए.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY