भारत की करिश्माई विदेशमंत्री से मिलना सम्मान की बात, बोलीं ट्रंप की बेटी

न्यूयॉर्क. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी एवं सलाहकार इवांका ट्रंप ने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र से इतर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. इंवाका ने सुषमा स्वराज को करिश्माई विदेश मंत्री बताया.

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘मैं लंबे समय से भारत की कुशल एवं करिश्माई विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का सम्मान करती हूं. उनसे मिलना सम्मान की बात है.’ भारत में नवंबर में वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईएस) में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने जा रहीं इवांका ने दोनों देशों में महिला उद्यमिता एवं कार्यबल विकास पर चर्चा की.

भारत और अमेरिका 28 से 30 नवंबर तक हैदराबाद में जीईएस की सह-मेजबानी करेंगे. जीईएस विश्वभर में उभरते उद्यमियों, निवेशकों और व्यापारिक नेताओं की वार्षिक सभा है. इवांका ने बैठक के बाद ट्वीट कर कहा, ‘हमने अमेरिका और भारत में महिलाओं की उद्यमिता, आगामी जीईएस 2017 और कार्यबल विकास पर चर्चा की.’

सुषमा स्वराज ने अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो से भी मुलाकात की. इन नेताओं ने समुद्री सुरक्षा, संपर्क और प्रसार के मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया.

भारत, जापान और अमेरिका के विदेश मंत्रियों ने आवागमन की आजादी, अंतरराष्ट्रीय कानूनों के सम्मान और विवादों के शांतिपूर्ण हल की जरूरत पर जोर दिया. डोकलाम विवाद और चीन के दमनकारी बर्ताव की पृष्ठभूमि में आज तीनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच संयुक्त राष्ट्र महासभा से इतर त्रिपक्षीय बैठक हुई.

संयुक्त राष्ट्र की आम सभा के इतर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को भूटान के प्रधानमंत्री के साथ ट्यूनीशिया के विदेश मंत्री से मुलाकात की. भूटान के पीएम के साथ उनकी यह पहली वार्ता है. चीन के साथ 73 दिनों तक चले डोकलाम विवाद के बाद ये मुलाकात बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है.

चीन भूटान के क्षेत्र में सड़क निर्माण कर रहा था, लेकिन भारत ने उसे रोक दिया. इसके बाद दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे के आमने-सामने खड़ी रहीं. सुषमा एक सप्ताह तक यहां पर रहेंगी. इस दौरान उनकी बीस द्विपक्षीय या त्रिपक्षीय मुलाकातें प्रस्तावित हैं.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट करके कहा कि भूटान के पीएम थेसरिंग तोब्गे व ट्यूनीशिया के विदेश मंत्री खेमाई झिनोई से मुलाकात की. विदेश मंत्रालय का कहना है कि इस दौरान भारत के रिश्ते अन्य देशों के साथ मजबूत करने की रणनीति पर काम होगा, जिससे व्यापार को बढ़ावा मिल सके.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY