इतना तो तय है कि भारत बदल रहा है

भ्रष्टाचार से लड़ने, भ्रष्टाचार को खत्म करने का मोदी का अपना दृष्टिकोण है. उनका मानना है कि सिर्फ सख्ती करके, छापे मार के, लोगों को जेल भेज के और स्टिंग ऑपरेशन करके भ्रष्टाचार को खत्म नहीं किया जा सकता. उन कारणों, उन नियम कानूनों को ही खत्म कर दो जिनके कारण भ्रष्टाचार पनपता है.

आज सुबह इंदौर से एक मित्र का फोन आया. झांसी में मिंटू मिश्रा और सिग्मा मिश्रा नामक दो माफिया भाई हैं. ये दोनों झांसी-इंदौर राष्ट्रीय राजमार्ग पर, टोल नाके से पहले एक अवैध बैरियर बना कर ये दोनों भाई हर ट्रक से 2500 रूपए वसूलते हैं. ये वसूली कब से चल रही है, कोई नहीं जानता. शायद पिछले 50 से भी ज़्यादा सालों से.

दो दिन पहले वो वसूली बंद हो गयी. इन दोनों माफिया बंधुओं के 20 से ज़्यादा एजेंट विभिन्न शहरों में इनके लिए वसूली करते थे. पैसा देने वाले ड्राइवर्स को एक कोड दिया जाता था. वो कोड बताने पर ही ट्रक को आगे जाने देते थे. बहुत से ट्रक वाले तो ये समझते थे कि ये कोई गुंडा टैक्स नहीं बल्कि सरकारी वसूली ही है.

जब पूरे देश मे GST लागू हो गया तो ट्रक मालिकों और ड्राइवर्स ने आवाज़ उठाना शुरू किया. ये कैसा टैक्स लिया जा रहा है. लोग इस अन्याय अत्याचार के खिलाफ एकजुट हुए, सक्रिय हुए.

परसों झांसी में इस बैरियर पर जम कर तोड़फोड़ हुई और पुलिस बल (कुछ लोग कह रहे हैं कि सेना ने) इनके गुंडों को गिरा के मारा.

आज समाचार मिला कि 50 सालों से चल रही अवैध वसूली अंततः अब जा के बंद हुई. एक देश एक टैक्स… GST के अलावा कोई अन्य टैक्स नही. गुंडा टैक्स भी नही.

बताया जाता है कि ऐसी ही एक वसूली देवास में एक थाने का SHO भी करता था जो 1500 रूपए प्रति ट्रक वसूलता था. GST के बाद वो भी बंद है. इसी तरह की एक अवैध वसूली उज्जैन में भी होती थी, वो भी बंद है. बताया जाता है कि इंदौर से हैदराबाद के बीच मे ऐसी 21 अवैध वसूलियां होती थीं, जो अब बंद हैं.

ये सारी जानकारी एक मित्र ने दी है. इसकी पुष्टि तो वही लोग कर सकते हैं जो ट्रांसपोर्ट के धंधे में हैं या जिनका माल ट्रांसपोर्ट से आता जाता है. इतना तय है कि भारत बदल रहा है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY