पनीर भापा : बंगाली डिश इलिश माछ का शाकाहारी रूपांतरण

उत्तरी भारत के शाकाहारी अतिथियों का स्वागत जब बंगाल में हो और बंगाली खाद्य का स्वाद उन्हें न मिले तो बंगाली संस्कृति से परिचय अधूरा है. लेकिन बंगाल तो मूलतः मछलीहारी तो क्या हो? शाकाहारियों के लिए बंगाली स्वाद नहीं? ऐसा संभव ही नहीं.

फूलकोपीर डालना (फूल गोभी आलू की रसेदार सब्जी), छानार डालना (पनीर और आलू की रसेदार सब्जी), आलू पोस्तो, पाँच मिशाली (पाँच तरह की सब्जियों को पाँच फोरन और पाउडर जीरा में पकाया हुआ), शुक्तो (कई सारी सब्जियों को करेले के साथ अदरक, राधुनी, सौंफ, पोस्तो, सरसों और दूध में पकाया हुआ), मोचा (केले के फूल को गर्म मसाला, नारियल और जीरा पाउडर के साथ घी में पकाया हुआ), कोचूर लोती (कच्चू के पौधे की लता को पिसे सरसों और पिसे नारियल के साथ पकाना होता है, जिसे काले जीरे की बघार लगती है), तीतोर दाल (मूंग की दाल को भून कर उसमें करेला डाल कर बनाते हैं) आदि . . . बहुत कुछ है.

लेकिन पनीर भापा ( steamed ) बहुत पापुलर है, जो पिसे पोस्तो, सरसों, दही, हरी मिर्च के साथ मिला कर कच्चे सरसों तेल में नमक के साथ मिला देते हैं और फिर एक टिफिन बॉक्स में बंद कर के कुकर में या तो 2/3 सीटी तक भाप में पकता है या बिना सीटी के कुकर में करीब 20 मिनट पका लिया जाता है.

ठीक ऐसे ही इलिश माछ भी बनायी जाती है. पनीर के स्थान पर इलिश मछली डाल दें.

टिपिकल बंगाली डिश का शाकाहारी रूपांतरण यह – भापा पनीर

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY