उदयन की रिपोर्ट : आओ हाथ बढ़ाएं हम भी

udayan school children in new school report

आपको याद होगा, आज से कोई 3 – 4 महीने पहले मैंने ये लिखा था कि उदयन के कुछ बच्चों का एडमीशन मैं किसी स्कूल में कराना चाहता हूँ. उसके लिए हमने 4 बच्चों का चयन किया. अगल बगल के स्कूल देखे जाने लगे. एक स्कूल का चयन हो गया. उन चारों बच्चों को वहां ले जा के स्कूल दिखाया. वो सब बहुत खुश थे.

फिर अचानक न जाने क्या हुआ कि उस स्कूल ने हमारे बच्चों का एडमीशन लेने से मना कर दिया. मजबूरी में नया स्कूल देखना पड़ा. जब एडमीशन कराने लगे तो एक बच्चा और छिरिया गया ……… हमहू ओही में पढ़ब …….. खैर साहब 5 हो गए. एडमीशन हुआ.

अब एडमीशन कराना तो भोत आसान है जी. उसमें तो सिर्फ पैसे लगते हैं. हमारे आपके घर की महिला तो सुबह 6 बजे उठ के बच्चे को नहला धुला ओढा पहिरा के खिया पिया के टिफिन बांध के 7 बजे स्कूल bus में चढ़ा देती हैं. समस्या ये कि मुसरौटी में ये कौन करेगा?

उदयन में तो बच्चों को नाश्ता 9 बजे और भोजन डेढ़ बजे मिल जाता है, स्कूल जाने वाले बच्चों को कैसे मैनेज करें? फिर उनका कपड़ा लत्ता जूता कौन धोये कचरे press करे सम्हाले????? तय हुआ कि बच्चे अल्लसुबह 6 बजे उदयन आ जाएंगे. यहीं से नाश्ता कर कपड़े पहन bus पकड़ेंगे. जब पहले दिन स्कूल Bus आयी तो वल्लाह क्या scene था…. सिर्फ 5 को आना था पर वहां तो 10 – 12 बच्चे खड़े थे ……. हमहू ओही में जाब …….. जी Sir जी …… हमहन क अडमीसन बड़का इस्कूल में ना होई ???????

और फिर जो भैया वहां रोआ राट मची …….. कुछ बच्चे जबरजस्ती स्कूल bus में सवार हो गए. पूरा महाभारत मचा ……. आंदोलन सत्याग्रह हुए …….. finally अब scene ये है कि कुल 18 बच्चे बड़े स्कूल में पढ़ने जाते हैं.

सबसे अच्छी बात ये हुई कि 4 ऐसी लड़कियां जिन्हें उनके माँ बाप ने तकरीबन स्कूल से हटा के अपनी घर गिरस्ति में उलझा लिया था वो अब अपने घर से विद्रोह करके स्कूल जा रही हैं. सुबह 6 बजे बच्चे घरों से उदयन आ जाते हैं. यहीं नहाते धोते नाश्ता करते हैं. सुबह का नाश्ता सिर्फ दूध दलिया या दही चूड़ा जैसा कुछ ready made ही हो पाता है क्योंकि इतनी सुबह कोई Aunty नहीं आ पाती. फिर 10 बजे 18 बच्चों का टिफ़िन में सब्जी परांठा स्कूल भेजते हैं. बच्चे 2.30 बजे स्कूल से वापस आते हैं. कपड़े change करते हैं. एक aunty उनके कपड़े तुरंत washing मशीन में धो के सुखा देती है. फिर उनको press कर वहीं एक Box में रख देती है. बच्चे Lunch करते हैं.

फिर 3 से 5 बजे तक एक tutor उनको home work और कुछ extra coaching देता है. उसके बाद सब बच्चे अपने shoes shine करते हैं. फिर एक घंटा Sports. शाम 6 बजे बच्चे अपने घर जाते हैं. ये तो Routine हुआ स्कूल जाने वाले बच्चों का. शेष छोटे बच्चों का उदयन यथावत चल रहा है.

ये तो हुई Functional समस्याएं. अब आइये Funds पे. 18 बच्चों का Admission, मासिक Tution fee, school bus, स्टेशनरी, extra Coaching, एक extra Meal, कपड़े धोने कचारने press करने को एक एक्स्ट्रा Aunty… स्कूल जाने वाले बच्चों का खर्च औसतन 2000 रु महीना हमने बढ़ा लिया है. मने कंगाली में गीले हुए आटे में और पानी ठेल दिया गया है.
Now it’s not a Dough , it’s a Batter ………

इस लेख के माध्यम से मैं उन सभी मित्रों को याद दिलाना चाहता हूँ जिनकी प्रेरणा से उदयन शुरू हुआ और आज यहाँ तक आ पहुंचा है. हमने अपना वादा पूरा किया है, अब बारी आपकी है.

Account details
Name Shri Ram govind singh udayan foundation
IFSC Code UBIN0570702
Account Number 707001010050000
Bank Name UNION BAK OF INDIA
Malikpur branch
Distt Ghazipur
paytm 7889258317
Mobikwik 7889258317
BHIM App no 7889258317

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY