गुरमीत राम रहीम यौन शोषण के दोषी, 28 अगस्त को सज़ा का ऐलान, हिंसक हुए समर्थक

चंडीगढ़. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई कोर्ट ने शुक्रवार को यौन शोषण मामले में दोषी करार दिया. सजा का एलान 28 अगस्त को होगा. फैसले के बाद हरियाणा पुलिस ने राम रहीम को कस्टडी में ले लिया. कार्यवाही के दौरान केवल 7 लोग कोर्ट के भीतर मौजूद रहे.

फैसला आने के बाद डेरा समर्थकों ने पंजाब, हरियाणा में हिंसा की. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए. हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

साल 2002 में एक साध्वी ने चिट्ठी लिखकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तब प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी को यौन शौषण की शिकायत भेजी थी. गुमनाम पत्र के माध्यम से साध्वी ने डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम पर यौन शोषण सहित कई अन्य संगीन आरोप लगाए थे.

साथ ही इसकी प्रति पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट को भेजी गई थी. पत्र में आरोप लगाए गए थे कि पीड़िता पंजाब की रहने वाली है और सिरसा के डेरा सच्चा सौदा में 5 साल से एक साध्वी के रूप में रह रही है.

पत्र में आरोप लगाया गया कि साध्वियों का शोषण किया जा रहा है. अपनी आपबीती भी बताई गई थी, जिसमें डेरामुखी गुरमीत राम रहीम पर यौन शोषण के आरोप लगे थे. घटना 1999 की है और पत्र 2001 में लिखा गया. प्राथमिकी 2002 में दर्ज की गई.

तब उच्च न्यायालय ने पत्र का संज्ञान लेते हुए सितंबर 2002 को मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए थे. सीबीआई ने जांच में उक्त तथ्यों को सही पाया और डेरा प्रमुख के खिलाफ विशेष अदालत के समक्ष 31 जुलाई 2007 में आरोप पत्र दाखिल कर दिया.

इसके बाद सीबीआई ने जांच की. 15 साल बाद मामले में फैसला आया. सुनवाई के बाद कोर्ट ने उन पर सभी आरोपों को सही मानते हुए यह फैसला सुनाया है. इसके बाद सजा का ऐलान सोमवार 28 अगस्त को किया जाएगा.

बाबा राम रहीम पर फैसला आते ही उनके अनुयायी उग्र हो गए हैं और एक न्यूज चैनल की ओबी वैन को आग के हवाले कर दिया गया है. लोगों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े जा रहे हैं और सुरक्षाबलों की टुकड़ियां रवाना हो चुकी हैं.

वहीं पंजाब के दो रेलवे स्टेशनों को आग के हवाले कर दिया गया है. हंगामे के दौरान पंचकूला में हुई फायरिंग में तीन लोगों के मारे जाने की खबर है. भीड़ ने सेक्टर 4 और 5 के इलाके में पथराव शुरू कर दिया है.

पथराव के चलते पुलिस और सुरक्षाबलों को पीछे हटना पड़ा है. इस हिंसा और पथराव में कई न्यूज चैनल्स के पत्रकार और कैमरामैन्स के घायल होने की खबरें आ रहीं हैं.

पंजाब में एक पेट्रोल पंप को भी आग के हवाले कर दिया गया है. शिमला हाईवे और अन्य कई जगहों पर गाड़ियों आग के हवाले कर दिया गया है. पंजाब के मुख्यमंत्री ने कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY