केजरीवाल को उठानी पड़ी शर्मिंदगी, मानहानि केस में भड़ाना से माँगी लिखित माफ़ी

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आज उस वक्त शर्मिंदगी उठानी पड़ी जब वे हरियाणा के कांग्रेस सांसद अवतार सिंह भड़ाना से माफ़ी मांगने को मजबूर हो गए.

‘अलग किस्म की राजनीति’ के स्वघोषित ठेकेदार केजरीवाल ने पटियाला हाउस कोर्ट में माफी मांगी है. पटियाला हाउस कोर्ट में भड़ाना ने केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था. साथ ही एक करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति की मांग की थी.

कांग्रेस सांसद अवतार सिंह भड़ाना का आरोप था कि केजरीवाल ने उनके बारे में 31 जनवरी 2014 को एक आपत्तिजनक बयान दिया था. इस बयान में केजरीवाल ने कहा था कि वे देश के सबसे भ्रष्ट व्यक्तियों में से एक हैं.

भड़ाना ने कहा, वे समाज के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं. इस टिप्पणी से उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची. उन्होंने केजरीवाल को लीगल नोटिस भेज कर अपने बयान को वापस लेने व माफी मांगने की मांग की थी. मगर, केजरीवाल की ओर से ऐसा नहीं किया गया.

अब कोर्ट में केजरीवाल ने भड़ाना से लिखित मे माफी मांगी है कि अपने सहयोगी के बहकावे मे आकर उन्होंने भड़ाना पर आरोप लगा दिए थे. बाद में पता चला कि वो आरोप सही नहीं है, इसलिए वो माफ़ी मांग रहे है.

उल्लेखनीय है इन दिनों आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के दुर्दिन चल रहे हैं. देश और दुनिया के तकरीबन हर मुद्दे पर जोरशोर से अपनी राय देने वाले केजरीवाल कई चुनावों में मिली हार, पार्टी में बगावत व खुद पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद एकदम खामोश से हो गए हैं.

एक समय हर मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर उपराज्यपाल तक को कोसने वाले केजरीवाल अब केवल खास कार्यक्रमों में या अपनों के बीच ही बोलते नजर आते हैं. दिल्ली के पूर्व मंत्री और कभी केजरीवाल के ख़ास साथी रहे कपिल मिश्रा द्वारा किए गए खुलासों के बाद से केजरीवाल की बोलती ही बंद है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY