मुज़फ्फरनगर ट्रेन हादसा : अब तक 30 की मौत, 100 घायल, हेल्प लाइन नंबर जारी

नई दिल्ली. उत्कल एक्सप्रेस शनिवार शाम मुजफ्फरनगर के खतौली में हादसे का शिकार हो गई. मुजफ्फरनगर में शनिवार शाम को हुए रेल हादसे में तीस से ज्यादा लोग मारे गए हैं और सौ से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है. हादसा आज शाम पौने छह बजे हुआ.

ट्रेन की कई बोगियों के पटरी से उतरने के कारण हुआ यह हादसा दिल्ली से लगभग 115 किमी की दूरी पर हुआ. रेलवे राज्यमंत्री हादसे के बाद तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हो गए. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं. हादसे के बाद हेल्प लाइन नंबर जारी किए गए हैं. दुर्घटना के बाद कई रेलगाड़ियों के रूट बदल दिए गए हैं. एनडीआरएफ की टीम दिल्ली से रवाना कर दी गई है.

खतौली रेलवे स्टेशन के दो किमी आगे कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए और एक दूसरे पर जा चढ़े. एक डिब्बा रेल पटरी के पास बने मकान में घुस गया. हादसे में मारे गए तीस लोगों के शव निकाले जा चुके हैं. मृतक संख्या इससे ज्यादा भी हो सकती है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुरी से हरिद्वार जा रही उत्कल एक्सप्रेस का इंजन से तीसरा डिब्बा पटरी से उतर गया और उसके बाद उसके पीछे के डिब्बे एक दूसरे पर जा चढ़े. एक डिब्बा रेल लाइन के पास बने घर में जा घुसा. कई डिब्बे एक दूसरे के ऊपर चढ गए. रेलवे सूत्रों के मुताबिक हादसे के वक्त ट्रेन की रफ्तार काफी तेज थी.

हादसे के बाद राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है. प्रदेश के पुलिस उप महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि मुजफ्फरनगर में रेल हादसे के बाद राहत एवं बचाव कार्य शीर्ष प्राथमिकता पर है. मेरठ जोन के सभी निजी तथा सरकारी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है.

रेल मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा कि हादसे के बाद के हालात की निगरानी मैं खुद कर रहा हूं. अधिकारियों के साथ रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा भी मौके पर पहुंच रहे हैं. हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. जो भी दोषी हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इस बीच, राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर दुख जाहिर करते हुए अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने के हर सम्भव कदम उठाने के निर्देश दिये हैं.

उधर, मुजफ्फरनगर में उत्कल एक्सप्रेस के पटरी से उतरने से पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया. उन्होंने कहा कि रेल मंत्रालय, उप्र सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है और ट्रेन के पटरी से उतरने के बाद सारी सहायता प्रदान कर रही है.

हालांकि रेलवे या पुलिस-प्रशासन के अधिकारी अभी इस बारे में कुछ भी नहीं कह रहे हैं, लेकिन हादसे के पीछे आतंकी साजिश को भी देखा जा रहा है. हादसे के बाद यूपी एटीएस के टीम मौके पर रवाना हो गई है. इससे पहले भी खतौली और इसके आसपास रेलवे ट्रैक पर पटरी से छेड़छाड़ होती रही है. कुछ दिन पहले भी पटरी की पेंड्रोल क्लिप निकली मिली थीं.

हेल्प लाइन नंबर

हरिद्वार : 9760534056, 0133- 4227477
मुजफ्फनगर स्टेशन : 0131- 2433099
रुड़की : 9760534056
हजरत निजामुद्दीन : 011-24359748, 242339748
पुरानी दिल्ली : 011- 23962389, 23967332
मुरादाबाद : 05911072, 05912420324
गाजियाबाद स्टेशन : 9412715210

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY