उदयन की रिपोर्ट : चलो स्कूल चलें हम

मितरों और मितरानियों,

आपको याद होगा कि मैंने आज से कोई दो महीने पहले उदयन के कुछ बच्चों का दाखिला एक अन्य स्कूल में कराने की योजना बनायी थी.

दरअसल हमें इन बच्चों के माता पिता से किसी किस्म का कोई सहयोग नहीं मिलता. इनकी माताओं की पूरी कोशिश होती है कि बड़े बच्चे तो कतई स्कूल न जाएँ. मुसहर बस्ती की 11 साल की लड़की सारा दिन अपनी माँ का दुधमुहा बच्चा संभालती है, खाना बनाती है, अगर माँ बाप खेत पे गए हैं तो उनका खाना पहुंचा के आती है, जंगल सीवान से ईंधन और उपले बीन के लाती है, अगर घर में सुअर हैं तो सुअर भी चराती है.

अब इतने उपयोगी helping hand को कौन खोना चाहेगा? इसी तरह मुसहर बस्ती में 10 – 12 साल का लड़का एक एडल्ट की तरह मजदूरी कर के रोज़ी रोटी कमाने की जिम्मेवारी उठाता है.

लोग मुझसे पूछते है कि उदयन चलाने में क्या समस्याएं आती हैं? सबसे बड़ा चैलेंज ये है कि बच्चों को किसी तरह घेर घार के रोजाना स्कूल ले आया जाए. मुझे आप लोगों को बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि इस सोमवार अंततः 8 बच्चों का स्कूल में प्रवेश हो गया. यूनिफार्म बन रही है, bags आ गए हैं. बुक्स के पैसे जमा कर दिए हैं. shoes खरीद लिए हैं.

शुरू में योजना सिर्फ 4 बच्चों की थी पर 4 लडकियां और तैयार हो गयीं. हम भी जायेंगे. एक लड़की ने तो घर में विद्रोह कर दिया. मैं सुअर चराने नहीं जाऊंगी. मैं स्कूल जाऊंगी. वैसे ये संख्या 8 से बढ़ के बहुत जल्दी 12 भी हो सकती है.

जिम्मेवारियां बहुत बढ़ गयी हैं. नयी चुनौतियां आ गयी हैं. सुबह 6 बजे बच्चों का नाश्ता, फिर 10 बजे स्कूल में टिफ़िन पहुंचाना, 3 बजे स्कूल से वापस आ के लंच, फिर स्कूल के कपड़ों को धोना, प्रेस करना, फिर बच्चों को होम वर्क कराना.

ये तय हुआ कि बच्चे अल्लसुबह 6 बजे हमारे घर आ जायेंगे, यहीं नहा धो के कपड़े पहनेंगे, और यहीं से बस पकड़ेंगे.

पहले दिन दादी माँ ने दूध पिला के बच्चों को रवाना किया.

आपका ‘दिया’ हर कपड़ा इन ‘दियों’ को भारी तूफ़ान, वर्षा और ठण्ड के दौरान भी प्रज्ज्वलित रखेगा

कृपया सहयोग के लिए पता नोट कर लीजिये-
अजित सिंह
ग्राम पोस्ट -माहपुर, तहसील सैदपुर,
जिला- गाज़ीपुर, उत्तर प्रदेश
पिन- 233304
मोबाइल – +91 78892 58317

Shri Ram govind singh udayan foundation
Ac no 707001010050000
Union bank of india
Malikpur branch
IFSC CODE : UBIN 0570702

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY