‘ऑपरेशन ऑलआउट’ : सेना ने मार गिराया लश्कर का टॉप कमांडर अबु दुजाना

श्रीनगर. कश्मीर में आतंकियों से लोहा ले रहे सेना के जवानों को एक बड़ी कामयाबी मिली है. मंगलवार सुबह जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के काकापोरा में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर अबु दुजाना को मार गिराया. सेना की हिट लिस्ट में शामिल दुजाना पर 15 लाख का इनाम था.

बता दें कि सेना ने कश्मीर से आतंकियों का सफाया करने के लिए ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ अभियान चलाया है. इसके तहत आतंकियों की एक लिस्ट तैयार की गई है. जिसके आधार पर अलग-अलग इलाकों में आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन उन्हें ढेर किया जा रहा है. अब तक इस ऑपरेशन के तहत करीब 100 आतंकियों को घाटी में ढेर किया जा चुका है.

दुजाना के साथ एक स्थानीय आतंकी आरिफ ललहारी भी मारा गया है. सुरक्षा बलों ने उस घर को आग लगा दी जिसमें आतंकियों के छिपे होने की खबर थी. अबु दुजाना लश्कर का टॉप कमांडर था. पिछले कई महीनों से सुरक्षाबलों ने दुजाना को मारने के लिए कई ऑपरेशन चलाए थे. उसपर सुरक्षा बलों ने 10 लाख का इनाम घोषित कर रखा था.

पुलवामा के हाकरीपोरा गांव में सेना ने तड़के साढ़े चार बजे से ही घेरा डाल रखा था. आतंकियों के एक घर में छिपे होने की खबर थी. जवानों ने इसे घेर लिया. अंदर से आतंकियों ने गोलीबारी की.

सीआरपीएफ की 182 बटालियन, 183 बटालियन, 55 राष्ट्रीय राइफल और एसओजी की टीम ने इलाके को घेरकर सर्च अभियान शुरू किया. सुरक्षा बलों को इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिली थी. इसके बाद सुरक्षा बलों ने हाकरीपोरा में घेरा डाला.

पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर का मूल निवासी दुजाना दक्षिणी कश्मीर में दिसंबर 2014 से सक्रिय था और सुरक्षा बलों को पांच बार चकमा दे चुका था. हाल में उसके अल कायदा की कश्मीर ब्रांच में ज़ाकिर मूसा के साथ जुड़ने की खबर आई थी. इस मुठभेड़ में दो और आतंकी भी मारे गए.

मूल रूप से गिलगित-बाल्टिस्तान के निवासी दुजाना का दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों पर हुए अधिकतर हमलों के पीछे हाथ था. वह पिछले साल हुए पंपोर हमले का भी मास्टरमाइंड था, जिसमें CRPF के 8 जवान शहीद हुए थे. बुरहान वानी के अंतिम संस्कार के अलावा भी उसे घाटी में कई बार विरोध प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक रूप से देखा जा चुका है.

इससे पहले 19 जुलाई को भी सेना ने अबु दुजाना को घेरा था. पुलवामा के बंदेरपुरा गांव में सेना और एसओजी के जवानों ने अबु दुजाना को पकड़ने के लिए जाल बिछाया था. मगर दुजाना चकमा देकर फरार हो गया था. इससे पहले मई महीने में भी सुरक्षाबलों ने हकरीपोरा गांव में ही सुरक्षाबलों ने दुजाना की घेराबंदी की थी. खबर मिली थी कि अबु दुजाना अपने साथियों के साथ गांव में छिपा है. जिसे पकड़ने के लिए सेना ने ऑपरेशन चलाया. उस दौरान गांववालों की पत्थरबाजी के बीच अबु दुजाना फरार होने में सफल रहा था.

बता दें कि दुजाना से पहले सुरक्षाबल लश्कर कमांडर बुरहान वानी, बशीर लश्करी, हिज्बुल मुजाहिदीन आतंकी सबजार अहमद बट, जुनैद मट्टू को भी ठिकाने लगा चुके हैं. जून में सेना ने जम्मू-कश्मीर में 12 आतंकियों की हिट लिस्ट जारी की थी.

इसमें लश्कर आतंकी अबु दुजाना उर्फ हाफिज के साथ जुनैद अहमद मट्टू, बशीर वानी उर्फ लश्कर, पुलवामा जिले का कमांडर शौकत ताक उर्फ हुजैफा, वसीम अहमद और जीनत-उल-इस्लाम जैसे खूंखार आतंकी शामिल थे.

सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर में इस साल अब तक 100 से ज्यादा आतंकवादियों को मार गिराया है. पिछले सात साल में इस बार जनवरी से जुलाई तक की अवधि में सबसे ज्यादा आतंकी मारे गए हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY