फर्क सिद्धांत और नीति का : सिद्धांत बदलना अवसरवादिता, नीति बदलना कूटनीति

पराभव काल से भारत के लोगों के साथ एक बड़ी समस्या रही है कि अधिकांश जनसमूह ‘भावनात्मक बुद्धि’ के प्रभाव में अधिक रहा और कुछ जनसमूह ‘तार्किक बुद्धि’ के प्रभाव में अधिक रहा. ‘भावनात्मक बुद्धि’ और ‘तार्किक बुद्धि’ का जिनमें संतुलन था वह या तो बहुत छोटा वर्ग था या कुछ सीमित काल के लिए … Continue reading फर्क सिद्धांत और नीति का : सिद्धांत बदलना अवसरवादिता, नीति बदलना कूटनीति