गुजरात : अहमद पटेल की राह मुश्किल, राज्यसभा की तीनों सीटों पर भाजपा ने खड़े किए प्रत्याशी

अहमदाबाद. कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला के बाद कांग्रेस के तीन और विधायकों ने पार्टी छोड़ दी है. इन विधायकों के इस कदम से कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार अहमद पटेल के लिए मुश्किल पैदा हो सकती है.

गुरुवार को कांग्रेस को उस समय बड़ा झटका लगा, जब उसके तीन विधायकों, बलवंत सिंह, तेजश्री पटेल और पीआई पटेल पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए. इतना ही नहीं भाजपा ने इनमें से एक बलवंत सिंह राजपूत को राज्यसभा चुनाव में पार्टी तीसरे प्रत्याशी के रूप में उतारने का ऐलान

गुजरात कांग्रेस के तीन विधायकों के एक साथ भाजपा में शामिल होने के साथ ही अहमद पटेल की राज्यसभा सदस्यता को लेकर खतरा बढ़ गया है. पटेल ने राज्यसभा के लिए कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में नामांकन भर रखा है.

गुजरात से राज्यसभा के कुल 11 सदस्यों में से स्मृति ईरानी और दिलीपभाई पांडे तथा कांग्रेस के अहमद पटेल का कार्यकाल 18 अगस्त को खत्म हो रहा है. कांग्रेस ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीति सचिव अहमद पटेल को फिर से अपना उम्मीदवार बनाया है. 67 वर्षीय अहमद पटेल ने कल अपना नामांकन दाखिल किया.

गुरुवार को बीजेपी में शामिल हुए कांग्रेस व्हिप बलवंत सिंह राजपूत को भाजपा ने राज्यसभा चुनाव में तीसरे प्रत्याशी के रूप में उतारने का ऐलान किया है. शुक्रवार को वह अमित शाह और स्मृति ईरानी के साथ बीजेपी के तीसरे उम्मीदवार के रूप में नामांकन भरेंगे.

भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर बलवंत सिंह के नामांकन भरने से अहमद पटेल की राज्यसभा की राह मुश्किल हो गई है. राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के विधायकों के भाजपा में शामिल होने से अहमद पटेल का जीतना मुश्किल हो सकता है. संभावना है कि आगामी दिनों में कांग्रेस के और कई नेता भाजपा में शामिल हो सकते हैं.

गुजरात से राज्यसभा के लिए तीन सीटों पर चुनाव होने हैं, जिसके लिए शुक्रवार को अमित शाह, स्मृति ईरानी और बलवंत सिंह राजपूत अपना नामांकन भरेंगे, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल पहले ही अपना पर्चा भर चुके हैं.

आगामी आठ अगस्त को गुजरात में राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मतदान होना है. इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव में 11 कांग्रेस विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की थी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY