भारत में बढ़ते विदेशी निवेश के लिए चीन बना मोदी का प्रशंसक

file photo

बीजिंग. भारत और चीन के बीच कई हफ्तों से जारी डोकलाम विवाद डोकलाम को लेकर जारी तनातनी और उकसावे भरे बयानों के बीच चीन ने बुधवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत की व्यापार नीतियों को लेकर तारीफ की है.

चीन की न्यूज एजेंसी शिन्हुआ न्यूज द्वारा जारी बयान में चीन ने कहा, “भारत लगातार विदेशी निवेश को आकर्षित कर रहा है. भारत ने निवेश के लिए सकारात्मक महौल बना लिया है और पिछले दो सालों में यह प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का सबसे बड़ा स्थान बन गया है.”

इसमें आगे कहा गया कि “भारत और चीन के बीच व्यापार संबंध बढ़ाना और भारत की खुली व्यापार नीति के समर्थन निश्चित तौर पर खुले वैश्विक व्यापार को बढ़ावा देने और सुरक्षावाद को बढ़ावा देने में योगदान करते हैं.”

बयान में आगे कहा गया कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने सक्रिय विदेश नीति लागू की है, जिससे विदेशी निवेश नीति में सुधार किया गया और घरेलू उद्यमों को अंतरराष्ट्रीय बाजार में पहुंचने के लिए प्रोत्साहित किया है.”

इसमें साथ ही कहा गया है, ‘विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर दोनों विकासशील राष्ट्रों का रुख एक समान है. डोकलाम विवाद मामले में लगातार चीन की ओर से मिल रही धमकियों के बीच इस तरह का बयान सभी के लिए हैरान कर देने वाला है.

हालांकि चीन ने बुधवार को एक बार फिर दोहराया कि भारत द्वारा विवादित डोकलाम क्षेत्र से सैनिकों को ‘बिना शर्त’ वापस हटाने तक उसके साथ कोई अर्थपूर्ण बातचीत नहीं हो सकती. चीन ने कहा कि विदेश मंत्री वांग यी ने इस मुद्दे पर आधिकारिक रूप से बीजिंग की स्थिति स्पष्ट की है.

डोकलाम विवाद पर टिप्पणी करने वाले पहले शीर्ष चीनी अधिकारी वांग ने मंगलवार को दावा किया था कि भारत ने चीन के क्षेत्र में घुसने की बात ‘स्वीकार ’ की है. उन्होंने कहा कि भारत को क्षेत्र से अपने सैनिकों को ‘ईमानदारी से वापस’ लेना चाहिए.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY