ब्रिक्स बैठक में भाग लेने डोभाल पहुंचे चीन, राष्ट्रपति जिनपिंग से होगी मुलाक़ात

बीजिंग. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ब्रिक्स देशों की सर्वोच्च सुरक्षा अधिकारियों की बैठक में शामिल होने के लिये चीन पहुंच गये हैं. डोभाल शुक्रवार को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिलेंगे.

चीन के अधिकारियों ने बुधवार को इस बात की पुष्टि की कि अजीत डोभाल ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) नेताओं की बैठक में शामिल होने के बीच चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करेंगे.

जिनपिंग से बातचीत के अलावा, डोभाल चीनी सरकार के सर्वोच्च काउंसलर यांग जेयची से भी सिक्किम के डोकलाम सेक्टर में भारत-चीन सेना के बीच टकराव के समाधान पर भी बात कर सकते हैं.

डोभाल और यांग भारत-चीन सीमा पर वार्ता प्रणाली के विशेष प्रतिनिधि हैं. चीन मौजूदा समय में ब्रिक्स की अध्यक्षता कर रहा है. इसीलिये पांच सदस्यीय समूह की बैठक सितंबर में जियामेन शहर में होगी.

हालांकि डोभाल के चीन दौरे की पूर्वसंध्या पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने दो टूक कह दिया कि डोकलाम मुद्दे पर तब तक कोई बात नहीं हो सकती जब तक भारत उस जगह से पीछे नहीं हट जाता.

उल्लेखनीय है कि डोकलाम चीन, भारत और भूटान का साझा प्वाइंट है. लेकिन डोकलाम पड़ोसी मुल्क भूटान के हिस्से में आता है, जहां अब चीन ने सड़के बनाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं. इस बात का भूटान ने कड़ा विरोध किया है.

भारत ने भी भूटान का समर्थन करते हुए इस पर कड़ा ऐतराज जताया है क्योंकि चीन का ऐसा करना भारत के लिए भी बड़ा खतरा है. लिहाजा, जून में भारतीय सेना ने चीनी सैन्य बलों द्वारा किये जा रहे सड़क निर्माण का काम रोक दिया था. तब से भारत और चीन के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY