देश के 14वें राष्ट्रपति को चुनने पीएम मोदी ने डाला वोट

नई दिल्ली. सोमवार सुबह दस बजे देश के 14वें राष्ट्रपति के लिए मतदान शुरू हो गया है जो शाम 5 बजे तक चलेगा. मतदान के लिए पीएम मोदी सुबह संसद भवन पुहंचे और अपने मताधिकार का उपयोग किया. इस चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का मुकाबला पूर्व लोकसभाध्यक्ष और कांग्रेसी उम्मीदवार मीरा कुमार से है.

प्रधानमंत्री के अलावा भाजपा और अन्य सभी राजनीतिक दलों के सांसद भी वोट जालने के लिए पहुंचे हैं. यह चुनाव ईवीएम के बजाए मतपत्र से देश की राजधानी और सभी प्रदेशों की राजधानियों में हो रहा है.

मतदान के बाद बैलेट बॉक्स हवाई जहाज से दिल्ली ले जाया जाएगा. यह बैलेट बॉक्स हवाई जहाज से दिल्ली जाने वाले भारत निर्वाचन आयोग के प्रतिनिधि अपनी बगल की सीट पर रखकर ले जाएंगे. इसके लिए बाकायदा सीट आरक्षित की जाती है.

23 जुलाई को शाम सा़ढ़े पांच बजे संसद के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को दोनों सदनों के सांसद विदाई देंगे. 25 जुलाई की सुबह सेंट्रल हॉल में देश के प्रधान न्यायाधीश जेएस खेहर नए राष्ट्रपति को शपथ दिलाएंगे.

देश में राष्ट्रपति का चुनाव अप्रत्यक्ष रूप से इलेक्टोरल कॉलेज द्वारा किया जाता है. यह लोकसभा के 543 सदस्यों, राज्यसभा के चुने गए 233 सदस्यों और 21 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के 4120 विधायकों से बनता है.

मतदान के लिए आने वाले विधायकों-सांसदों को हॉल के अंदर पेन/पेंसिल व मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी. बैलेट पेपर पर मतदान अंकित करने के लिए निर्वाचन आयोग खास किस्म का पेन मुहैया कराएगा, जिसकी स्याही बैंगनी रंग की होगी.

निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए 33 पर्यवेक्षक नियुक्त किए हैं. दो पर्यवेक्षक संसद में, जबकि एक-एक पर्यवेक्षक हर राज्य की विधानसभा में तैनात रहेगा.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY