छुट्टी ख़राब कर दी कमबख्त ने!

जब छुट्टी लेता हूँ, कुछ ऐसी बाते होती हैं कि लौटना ही पड़ता है. फेसबुक से तो नहीं लेकिन व्हॉट्स एप से पता चला कि मोदी की इज़राइल यात्रा बहुत से लोगों को नहीं पच रही है. तीन दिन क्यों रुके, इज़राइल से तो पहले ही हथियार लेते थे फिर अब दिखावा क्यों. मोदिया ने बाहर पैर निकाला और आक्रमण शुरू. अब इस तस्वीर को लेकर व्यंग्य कसे जा रहे हैं. कुछ देर पहले किसी ने व्हॉट्स एप पर ये फ़ोटो डाली और लिखा ‘बंगाल जल रहा है और मोदी विदेश में मस्ती कर रहा है’.

लिहाज़ा वापस आया हूँ इस फ़ोटो का सच बताने. इज़राइल संसार का पहला ऐसा देश है जिसने समुद्र के पानी को उच्च क्वालिटी का पेयजल बनाना सीख लिया है. वे अब समुद्री पानी को पीने लायक बना रहे हैं. उन्होंने ऐसे वाहन बना लिए हैं जो अपने आप में वॉटर प्यूरिफिकेशन की पूरी यूनिट है. हाइफा/हैफा में ओल्गा बीच पर मोदी ऐसी ही ‘वॉटर डीसैलिनैशन यूनिट’ का डेमो देखने गए थे. डीसैलिनैशन यानि अलवनीकरण. ये यूनिट समुद्री पानी से नमक निकाल देती है. रोजाना 20 हज़ार लीटर पानी और वो भी World Health Organization के मानको पर खरा उतरता है.

इस तरह की तकनीक इज़राइल ने युगांडा जैसे देशों को दी है, जहां पेयजल की गंभीर समस्या है. प्रधानमंत्री ने न केवल इस (Gal-Mobile water desalination unit) का निरीक्षण किया बल्कि इसके बारे में सारी जानकारी हासिल की. मोदी लोकहित के अविष्कारों में खासी रूचि रखते हैं. सम्भव है ये यूनिट किसी दिन हमारे यहाँ भी काम करने लगे.

अब उसकी उम्र नहीं है बीच पर मस्ती करने की और होती तो भी नहीं करता. तुम्हारा नेता मलेशिया के बंद कमरों में किसानों और गरीबों के लिए कैसी चिंता करता है, देश जानता है. और तुम अंधे उसको ‘मस्ती’ न मानकर ‘चिंता’ मानते हो.

छुट्टी ख़राब कर दी कमबख्त ने.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY