दम है तो करके देखो

पश्चिम बंगाल के बारे में लिखता रहा हूँ. पिछले महीनों पश्चिम बंगाल से मालदा और धूलागढ़ दे दंगों की ख़बरें आई थी. तब मैंने कहा था कि असल मामला तो उत्तर चौबीस परगना, नदिया, बीरभूम और बर्धमान के इलाकों में है जहाँ हिन्दू 7 बजे के बाद घर से निकलना बंद कर देते हैं.

आम दिनों में भी मुस्लिम समुदाय के लोगों का सड़कों पर उपद्रव जोरों पर रहता है. बसीरहाट जैसे जगह पर जहाँ मुस्लिम आबादी 60% से ज्यादा है वहां हिंदू लड़कियों को स्कूल तक भेजना बंद है.

उत्तर चौबीस परगना में हिन्दू लड़कियों का अपहरण कर ले जाना आम है और बंगाल की पुलिस रिपोर्ट लिखना तो दूर उलटे हिन्दुओं को इलाका छोड़कर चले जाने को कहती है… कालीचक, इलमबाजार, मल्लारपुर, तेहट्टा, दुबराजपुर में चारों तरफ से इस दँगाई और आग से घिरे हिन्दुओं की दुर्दशा किसी को नहीं मालूम.

पश्चिम बंगाल में केंद्र ने अपने अंदर आने वाले प्रतिष्ठानों जैसे रेलवे स्टेशन, NTPC आदि जगहों पर BSF और SSB की तैनाती पिछले नवंबर को की थी जिसको ममता बनर्जी सत्ता पलट का प्रयास बोलकर खूब चीखी थी.

ये बल घूमते रहते हैं और लोगों को कुछ राहत मिलती है. कानून व्यवस्था राज्य का मामला है तो इन केंद्रीय बलों की सीमा है वो उससे आगे एक्शन नहीं ले सकते. नवंबर के पहले इन प्रतिष्ठानों पर लूट और आगजनी आम बात थी.

ये दंगाई भीड़ केंद्र के प्रतिष्ठानों से दूर हटकर अब राज्य के प्रतिष्ठानों और आम लोगों के जान माल पर हमला करते हैं. चूंकि ये कल का दंगा बड़े पैमाने पर हो गया है तो प्रकाश में आया है. लेकिन जो मामले हर रोज जगह-जगह होते रहते हैं उनकी कोई रिपोर्ट नहीं बनती और बाहर नहीं आते.

NDTV के कैमरे को लेकर रविश कुमार को बसीरहाट, हसनाबाद, भवानीपुर, गायघट्टा, आदि जगहों पर जाना चाहिए… बर्धमान के मुर्शिदाबाद, मुख्तारपुर, करीमपुर और सागरपाड़ा भी जाना चाहिए… वहां की हिन्दू आबादी से मिलना चाहिए और उनसे पूछना चाहिए कि क्या हाल है.

सही तो ये होगा कि कुछ दिन स्टूडियो वाले रविश कुमार का चोला उतारकर उतारकर पंडित रविश कुमार तिवारी (या पांडेय) बनकर उधर रहना चाहिए, परिवार के साथ. तब पता चल जाएगा कि इस इलाके में बिटिया को स्कूल भेजने के क्या मज़े हैं.

शाम को सात बजे के बाद परिवार के साथ घूमने निकलना चाहिए और बाज़ारों के मज़े लेने चाहिए. रविश कुमार दम है तो करके देखो… गारण्टी है कि जोड़ों के सारे ढक्कन खोल दिए जाएंगे, बक्कल तोड़ दिए जाएंगे और कुत्ते फेल कर दिए जाएंगे…

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY