नवीनतम संचार उपग्रह GSAT-17 की फ्रेंच गुयाना से सफल लॉन्चिंग

कॉरू. भारत के नवीनतम संचार उपग्रह GSAT-17 की फ्रेंच गुयाना से 29 जून यानी गुरुवार तड़के सफलतापूर्वक लॉन्चिंग हुई. एरियन-5 वीए-238 रॉकेट के जरिए फ्रेंच गुयाना के कॉरू से इस उपग्रह को प्रक्षेपित किया गया.

3477 किलोग्राम वजनी इस उपग्रह में कई तरह की संचार सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए नॉर्मल सी-बैंड, एक्टेंडेड सी-बैंड और एस-बैंड हैं.

GSAT-17 में मौसम से जुड़े आंकड़े और सैटेलाइट आधारित खोज व रेस्क्यू सेवाएं प्रदान करने के लिए भी उपकरण लगे हैं.

GSAT-17 को जियोसिन्क्रोनस ट्रांसफर ऑर्बिट (GTO) में एरियन-5 वीए-238 प्रक्षेपण यान से लॉन्च किया गया. इस ऑर्बिट पर उपग्रह के पहुंचते ही इसका नियंत्रण इसरो के मास्टर कंट्रोल फैसिलिटी से होगा.

श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से जीएसएलवी एमके-3 और पीएसएलवी सी-38 के बाद इसरो ने इस महीने में तीसरी बार किसी उपग्रह का प्रक्षेपण किया है

पहले इस उपग्रह का बुधवार रात दो बजे से सवा तीन बजे के बीच प्रक्षेपण किया जाना था, लेकिन खराब मौसम के चलते इसे एक दिन के लिए टाल दिया गया.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (इसरो) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि तेज हवाएं चलने के कारण प्रक्षेपण को एक दिन के लिए टाल दिया गया था.

इसरो के अनुसार, यह मौसम संबंधी और उपग्रह आधारित तलाशी एवं बचाव कार्य से जुड़े आंकड़े भेजने वाले उपकरण भी लेकर गया है. इनसैट उपग्रह पहले ये सेवाएं उपलब्ध कराते थे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY