मोदी के अमेरिका दौरे में हिजबुल सरगना सलाहुद्दीन वैश्विक आतंकी घोषित

वॉशिंगटन. अमेरिकी विदेश विभाग ने हिज्बुल मुजाहिदीन प्रमुख सैय्यद सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकी घोषित किया है. भारत ने सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकी घोषित करने का स्वागत करते हुए कहा कि यह कदम दोनों देशों के समक्ष आतंकवाद के खतरे को मजबूती से रेखांकित करता है.

गौरतलब है कि सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकी घोषित करने के अमेरिकी विदेश विभाग के फैसले का नतीजा यह होगा कि कोई भी अमेरिकी नागरिक अब उसके साथ किसी तरह का कोई व्यापारिक या कारोबारी संबंध नहीं रख पाएगा और अमेरिका या अमेरिकी क्षेत्राधिकार में आने वाली सलाहुद्दीन की सभी संपत्तियां जब्त कर ली जाएंगी.

अमेरिकी विदेश विभाग ने अपने बयान में कहा, ‘हिज्बुल मुजाहिदीन के वरिष्ठ नेता के रूप में सलाहुद्दीन जिसे कि सैय्यद मुहम्मद युसूफ शाह के नाम से भी जाना जाता है, ने सितंबर, 2016 में कसम खाई थी कि वह कश्मीर मुद्दे का कभी शांतिपूर्ण हल नहीं होने देगा. साथ ही उसने कश्मीर में और आत्मघाती हमलावर तैयार करने और कश्मीर घाटी को भारतीय सैनिकों के कब्रिस्तान में तब्दील कर देने की धमकी दी थी.’

बयान में आगे कहा गया कि सलाहुद्दीन के हिज्बुल मुजाहिदीन का वरिष्ठ कमांडर रहते हुए हिज्बुल ने कई हमलों की जिम्मेदारी ली. इसमें अप्रैल, 2014 में जम्मू कश्मीर में हुआ विस्फोट भी शामिल है जिसमें 17 लोग मारे गए थे.

सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकवादी घोषित करते हुए विदेश विभाग ने अपनी अधिसूचना में कहा कि उसने कई आतंकवादी हमलों को अंजाम दिया है और खतरा है कि वह और आतंकी हमले कर सकता है.

भारत ने इस फैसले का स्वागत किया है. विदेश विभाग के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि यह उस खतरे को रेखांकित करता है जिसका दोनों देश भारत और अमेरिका सामना कर रहे हैं.

इस बीच, ट्रंप के साथ शिखर बैठक से पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने प्रधानमंत्री मोदी से भेंट की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इन दोनों ही बैठकों में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सहयोग गहरा करने के तरीकों पर खास तौर से बातचीत की गई.

प्रधानमंत्री और अमेरिकी रक्षा मंत्री मैटिस के साथ मुलाकात में भी आतंकवाद और अफगानिस्तान की स्थिति पर चर्चा हुई. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल समेत वरिष्ठ भारतीय अधिकारी इस मुलाकात के दौरान मौजूद थे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY