पढ़िये, किसी प्यारी सी कविता की भाँति सुंदर है कैलकुलस

जब पहाड़ पर से गोल गोल घूम कर बस उतरती है तो अक्सर लोगों को उलटी आती है. गणित-विज्ञान की भाषा में इसको “Jerk” (जर्क) कहा जाता है. आम बोलचाल की भाषा में “motion sickness” कहते हैं.

जर्क का सूत्र थॉमस फिन्नी की “Calculus” पुस्तक में मिल जायेगा. जब दूरी को समय से भाग देते हैं तब गति प्राप्त होती है. गति को समय से भाग देने पर त्वरण (acceleration) मिलता है. त्वरण को समय से भाग देने पर जर्क मिलता है. कैलकुलस की भाषा में d3s/dt3. इसी जर्क के प्रभाव से पेट में स्थित तरल पदार्थ बाहर आ जाता है.

सरल भाषा में समझें तो जब दूरी समय के साथ परिवर्तित होती है तब गति, गति समय के साथ बदली तो त्वरण, और जब त्वरण समय के साथ बदलता है तो “motion sickness” का प्रभाव सामने आता है.

थॉमस फिन्नी इंजीनियरिंग वाले पढ़ते हैं. बहुत अच्छी पुस्तक है, मैं इंजीनियरिंग का छात्र नहीं हूँ फिर भी मैंने खरीद कर पढ़ी थी. गणित के मूलतः तीन भाग हैं: Analysis, Algebra and Geometry.

कैलकुलस एनालिसिस में आता है. इस विषय की खूबी यह है कि भौतिक जगत में जो कुछ भी घटित होता है उसे गणितीय सूत्र में प्रदर्शित करने की क्षमता एनालिसिस में है. जैसे कोई बॉल नीचे गिरी तो उसकी चाल का पूरा हिसाब किताब partial differential सूत्र में पिरोया जा सकता है. गणित का सौंदर्य सबसे पहले मुझे इसी में दिखाई दिया था.

पढ़िये, पढ़िये कैलकुलस किसी प्यारी सी कविता की भाँति सुंदर है. ? प्राचीन भारत में भास्कर (द्वितीय) ने 1114 AD में तात्कालिक गति का सिद्धांत बताया था. ये कैलकुलस का मूल सिद्धांत है. Tending to zero का सिद्धांत यहीं से आया होगा. इस पर फिर कभी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY