कश्मीरियों के हाथों मस्जिद के बाहर मारा गया फ़र्ज़ निभाता डीएसपी

श्रीनगर. पाक माह-ए-रमजान में भी कश्मीरियों ने अपनी फ़ितरत दिखाते हुए एक बार फिर एक पुलिस अधिकारी की ड्यूटी के दौरान हत्या कर दी. राज्य की पुलिस ने ट्वीट कर इस घटना की जानकारी दी है.

गुरुवार को देर रात नौहट्टा इलाके में डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित मस्जिद के बाहर अपनी ड्यूटी कर रहे थे. रमजान में जुमे की आखिरी नमाज को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी की जा रही है ताकि किसी तरह की हिंसक वारदात न हो.

इस वक्त पूरे कश्मीर में लोग शब-ए-कद्र मना रहे हैं. इस दौरान रात भर जागते हैं और घाटी की मस्जिदों और दरगाहों के अंदर इबादत करते हैं.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से घटना की पुष्टि की गई हैं. पुलिस ने ट्वीट किया, ‘एक और पुलिस अधिकारी ने ड्यूटी निभाते हुए जान दी. डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित अपनी ड्यूटी निभा रहे थे और भीड़ ने पीटकर मार डाला.’

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शहर के जामिया मस्जिद के बाहर डीएसपी तैनात थे. भीड़ ने समझा कि वह मस्जिद का फोटो खींच रहे हैं. हंगामा होने के बाद पुलिस अधिकारी ने हवा में 3 गोलियां चलाईं जिसमें 3 लोग घायल हो गए.

इसके बाद भीड़ ने एकजुट होकर डीएसपी पर हमला कर दिया और पीट-पीटकर हत्या कर दी. घटना के बाद से क्षेत्र में तनाव है और बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

शुक्रवार को रमजान का आखिरी जुमा है. इस मौके पर व्यापक स्तर पर सार्वजनिक स्थलों और इबादत की जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए शहर के 7 पुलिस स्टेशन इलाकों में लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है.

अलगाववादियों ने पुलवामा जिले के काकापोड़ा इलाके में विरोध के दौरान एक हत्या के खिलाफ जुमे की नमाज के बाद विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है. इस दौरान कानून-व्यवस्था की स्थिति नहीं बिगड़े, इसके लिए प्रतिबंध लगाया गया है.

पाकिस्तान की तरफ से गुरुवार को भी सीजफायर का उल्लंघन किया गया. वहीं, राज्य के कई संवेदनशील हिस्सों में रमजान के महीने में भी कई आतंकी वारदात अंजाम दिए गए.

वहीं एक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक,  लोगों के समूह ने डीएसपी पंडित को मस्जिद के बाहर तस्वीरें लेते देखा था. जब लोगों ने उन्हें पकड़ने की कोशिश की तो कथित तौर पर फायरिंग की, जिसमें तीन लोग घायल हो गए.

इसके बाद लोगों ने उन्हें जाने नहीं दिया और पीट-पीट कर मार डालने से पहले उन्हें निर्वस्त्र कर दिया गया. इलाके में स्थिति सामान्य करने के लिए अतिरिक्त पुलिस कर्मी भी मौके पर पहुंचे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY