शरीर, मस्तिष्क और आत्मा को जोड़ने वाले योग की, दुनिया को जोड़ने में भी महत्वपूर्ण भूमिका : पीएम

लखनऊ. तीसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्‍यपाल रामनाइक और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने एक साथ 51 हजार लोगों के साथ योग किया.

खराब मौसम के कारण योग करने के बाद प्रधानमंत्री दिल्‍ली के लिए रवाना हो गए. योग दिवस के मौके पर बुधवार सुबह सात बजे योगासन शुरू करने से पहले पीएम ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित भी किया.

प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी योग प्रेमियों को लखनऊ की धरती से प्रणाम. शरीर, मस्तिष्क और आत्मा को जोड़ने वाले योग ने दुनिया को जोड़ने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

उन्‍होंने कहा कि जिस तरह भोजन में नमक का महत्व होता है तो उसी तरह जीवन में योग का महत्व है. प्रधानमंत्री मोदी के साथ राज्यपाल रामनाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सरकार के मंत्रियों और हजारों लोगों ने योगासन किए.

उन्‍होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वस्थ मन के बाद जीने की कला योग से ही सीखने को मिलती है. योग लगातार दुनिया को जोड़ने का काम कर रहा है. तीन साल में योग सिखाने वाली जगहों की तादाद बढ़ी है. लोग योग पर तमाम तरह के प्रोग्राम संचालित कर रहे हैं.

उन्‍होंने सभी से अपील की कि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं. योग के कारण ही दुनिया के तमाम देश भारत से जुड़ने लगे हैं. लखनऊ के इस विशाल मैदान में हजारों लोगों को देख रहा हूं. लगातार बारिश के बीच भी आप सब यहां डटे हुए हैं योग के महत्व को बल देने का आपका यह प्रयास अभिनंदनीय है.

पीएम ने कहा, यूनाइटेड नेशन ने जब योग को मान्यता दी, तब से दुनिया का शायद ही कोई देश हो जहां योग का कार्यक्रम न होता हो. इसके प्रति जागरुकता न बढ़ी हो. पिछले तीन साल में बहुत बड़ी मात्रा में योग टीचर्स की मांग बढ़ी है. विश्व में युवाओं के लिए एक नया जॉब मार्केट तैयार हो रहा है.

इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि दुनिया में 200 से ज्यादा देश आज योग कर रहे हैं. मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री जी के साथ योग करते हुए आप इसे जनआंदोलन बनाएंगे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY