योग को गुफाओं और ग्रंथों से निकाल कर सावर्जनिक किया बाबा रामदेव ने : मोरारी बापू

माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और महर्षि पतंजलि के मानस पुत्र कहे जाने वाले भारत माता के गौरव योगऋषि परम पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज के द्वारा योग व प्राणायाम के प्रति समर्पण तथा निष्कंटक निष्ठा के साथ साथ भारत में लुप्त हो गई विद्याओं को पुनर्जीवित करने के प्रयास के फलस्वरूप 21 जून अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

इस वर्ष भी पूरा देश यह दिन मनाने के लिए उत्साह से जुट गया है. जहां एक ओर नरेन्द्र मोदी सोशल मीडिया प्लेटफोर्म से योग का प्रचार प्रसार कर रहे हैं, वहीं बाबा रामदेव सोशल मीडिया के साथ साथ स्वयं देश के कोने कोने में जाकर लोगों को योग के प्रति जागरूक कर रहे हैं.

साथ ही मोरारी बापू, श्री श्री रविशंकर और सद्गुरु जैसे आध्यात्मिक गुरु भी योग के प्रचार प्रसार के लिए अपने अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं.

योग भारतीय संस्कृति की एक अदभुत विद्या है. बाबा रामदेव ने कई बड़े लोगों को योग कराया है. अब 21 जून को अहमदाबाद में योग कराएंगे. कई महापुरुषों ने योग पर काम किया है मगर उसे गुफाओं और ग्रंथों से निकाल कर सावर्जनिक रूप में जो सामने लाया है उसका श्रेय Baba Ramdev को जाना चाहिए.

गुजरात सरकार एवं पतंजलि योगपीठ के संयुक्त तत्वधान में तृतीय अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का भव्य व विशाल आयोजन 21 जून को जी.एम.डी.सी ग्राउंड,अहमदाबाद, गुजरात मे किया जायेगा.
निःशुल्क योग चिकित्सा एवं ध्यान शिविर 18 से 21 जून -5:00 से 7:30 बजे
रजिस्ट्रेशन हेतु मिस काॅल करें – 7878404455
अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें: 7433007774, 7433007775, 7433007776

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY