दुर्दशा की मारी ‘पाकीज़ा’ की हीरोईन के बेटे ‘राजा’ पर क्या कोई ठोक सकता है फतवा?

माँ के लिए कहा गया है – मेरी माँ मेरे लिए भगवान है, माँ के चरणों में रहना वरदान है. माँ का हाथ सिर पर होने से सुख मिलता है, दुनिया में सब चीजों का महत्व बाद में है, सबसे ऊपर तो मेरी माता का स्थान मेरे लिए है! यह भावना अक्षरश: सत्य है. पूरी … Continue reading दुर्दशा की मारी ‘पाकीज़ा’ की हीरोईन के बेटे ‘राजा’ पर क्या कोई ठोक सकता है फतवा?