जंगलराज रिटर्न्स : मंत्री से ही मांग ली दस लाख की रंगदारी

file photo

पटना. चारा घोटाले में सज़ायाफ्ता लालू यादव का साथ मुख्यमंत्री नितीश कुमार को भारी पड़ने लगा है. सत्ता में लालू यादव की वापसी से उनके दौर के जंगलराज की वापसी के विपक्षी आरोप अब हकीकत में बदलते नज़र आ रहे हैं.

हालत इस कदर बदतर हैं कि बदमाशों ने राज्य के एक मंत्री से ही 10 लाख रुपये की रंगदारी मांग ली है. रंगदारी नहीं देने पर मंत्री और उनके परिवार को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तीन जून को बिहार के गन्ना मंत्री खुर्शीद उर्फ़ फ़िरोज़ आलम के निजी फोन पर एक अज्ञात नंबर से मैसेज आया था. शनिवार को मैसेज देखते ही खुर्शीद आलम हक्के-बक्के रह गए. उनसे 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी.

रंगदारी न देने पर उन्हें बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी. मंत्री ने फौरन सचिवालय थाने में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई. एसपी सिटी चंदन कुशवाहा ने बताया कि मंत्री की शिकायत के बाद मामला दर्ज कर लिया गया है. केस की तफ्तीश जारी है.

मैसेज में साथ ही रकम को चेक पोस्ट पर भेजने को कहा गया है. लेकिन किस चेक पोस्ट पर पैसा देना है, इस बात की जानकारी मैसेज में नहीं है.

एसपी ने कहा, आरोपी के नंबर को सर्विलांस पर ट्रेस कर रहे हैं. जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. खुर्शीद आलम पश्चिमी चंपारण बेतिया से विधायक हैं और वर्तमान में नीतीश सरकार में गन्ना मंत्री हैं.

यह मैसेज तीन जून को सुबह छह बज कर 51 मिनट पर उनके पर्सनल नंबर पर आया था. लेकिन उन्होंने नहीं देखा था. शनिवार को वे अपने सचिवालय स्थित कार्यालय गये और काम से फुर्सत होने के बाद शाम करीब चार बजे अपने मोबाइल को देखने लगे.

उनके मोबाइल पर काफी संख्या में मैसेज आए हुए थे. उन्होंने सभी मैसेज को देखना शुरू किया, तो उक्त धमकी भरे मैसेज पर नजर पड़ी और फिर पुलिस को मामले की जानकारी दी गयी. जिस नंबर से मैसेज आया है, वह ट्रू कॉलर में खोजने पर किसी सुमित के नाम से दिख रहा है.

गन्ना मंत्री ने कहा है कि यह किसी सिरफिरे की करतूत लगती है. यह मैसेज दिखा, तो उन्होंने पुलिस को जानकारी दे दी, ताकि इसकी असलियत की जानकारी हो सके.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY