भविष्य में पुलिस थानों से सब पुलिस वालों की हो जायेगी छुट्टी!

क्या आप उस दिन की कल्पना कर सकते हैं जब पुलिस थानों पर से खाकी वर्दी वाले सिपाही, हवलदार, एएसआई, सब इन्सपेक्टर, थानेदार और सीएसपी सबकी छुट्टी हो जाएगी.

आज की तारीख में उस दिन की कल्पना करना हास्यास्पद नजर आता है. पर चौंकिए नहीं यह दिन अब इस शताब्दी के खत्म होने के पहले आपको देखने को जरूर मिल जायेगा. आप अगर 50-60 साल बाद अपने नगर के पुलिस स्टेशन पर जाएंगे तो वहां पर आपको पुलिस की ड्रेस में कोई इन्सान नजर नहीं आएगा.

पुलिस के जवान की जगह आपको “रोबो-पुलिस” मिलेगी. एक मीटर 70 सेण्टीमीटर ऊंचा यह 100 किलो वजनी रोबोट पुलिस के पास, जैसे ही आप उसके दो मीटर के घेरे में पहुंचेंगे, तत्काल रोबो पुलिस आपके आधार कार्ड से आपकी पूरी जानकारी लेकर आपका नाम लेकर आपको पुकारेगा ‘कहिये श्रीमान शंभु नाथ जी, नमस्कार, आपका कैसे आना हुआ, मैं आपकी क्या सेवा कर सकता हूं.’

जब तक आप रोबोपुलिस से हलो हाय करेंगे, रोबो पुलिस का जवान आपके बारे में पूरी जानकारी इकठ्ठा करके आपकी सब जिज्ञासाओं का समाधान करने को तैयार हो जायेगा. आपके साथ किसी ने मारपीट की है, कोई चोरी हुई है, किसी ने आपकी बीबी के साथ छेड़खानी की है, बेखौफ आप बता दीजिये. आपकी एफआईआर दर्ज हो गई.

आपके बयान का वीडियो बन कर पुलिस हेडक्वार्टर के बड़े रोबोपुलिस कमिश्नर के पास पहुंच जाएगी. तुरन्त रोबो पुलिस हेड़क्वार्टर से दूसरे रोबोसिपाहियों को आदेश जाएंगे और इधर आप थाने से बाहर कदम रखेंगे कि अपराधी तब तक पकड़ लिया गया होगा. इस सब काम के लिये आपको न तो कोई पौआ लगाना पडेगा न रोबोपुलिस की जेब गरम करना पड़ेगी.

अरे भाई, यह कोई सपना नहीं है, इस प्रकार के पुलिसिया रोबोट जिन्हें “रोबोपुलिस” कहा जाने लगा है, इनकी अब शुरूआत हो गई है. अब दुनिया का पहला “रोबो पुलिस” आपको विश्व की सबसे ऊंची इमारत “बुर्ज खलीफा” स्थित दुबई माल के प्रवेश द्वार पर खड़ा मिल जाएगा.

यह श्रीमान अरबी अंग्रेजी सहित कुल छ:भाषाओं में फटाफट बोल सकते हैं. आपके पास आते ही तपाक से फौजी सलाम ठोकते हैं. आपसे हाथ मिला लेते हैं. आपके चेहरे को देख कर यह पढ़ लेते हैं कि आप खुश हैं या किसी परेशानी में हैं. यह हजरत आपकी आँखों में देख कर तुरन्त उनके दुबई पुलिस की अपराधियों की लिस्ट से मिलान करके पहचान लेंगे कि आप कोई वाण्टेड क्रिमिनल तो नहीं है.

दुबई पुलिस के स्मार्ट सरविस सेल के डायरेक्टर जनरल खालिद नशीर अल रझूकी के मुताबिक अगले 11-12 सालों में दुबई की सड़कों पर पुलिस के जवानों की जगह सब स्थानों पर यही रोबो पुलिस चहल कदमी करती मिलेगी. इनके कई फायदे हैं.

इन्हें चाय नाश्ता करने और आराम करने की कोई जरूरत नहीं होती. यह बगैर सोये चौबीसों घण्टे बिना थके काम कर सकेंगे. इन्हें किसी प्रकार की कभी कोई छुट्टी की जरूरत नहीं होगी. एक रोबो पुलिस का जवान दस दूसरे पुलिस वालों के बराबर काम करेगा.

सन 2030 तक दुबई की सड़कों पर यही रोबो पुलिस पेट्रोलिंग करेगी. कानून तोड़ने वालों को पकड़ेगी, टेक्स वसूल करेगी. इन रोबो पुलिस के सीने में एक स्क्रीन लगी है. उस पर आप अपनी शिकायत लिख सकते हैं. तुरन्त निराकरण होगा.

गनीमत है फिलहाल रोबो पुलिस के हाथ मे पुलिस का ड़ंडा नहीं सौंपा गया है. जिस दिन इनके हाथ में पुलिस का ड़ंडा आ गया, फिर तो राम जाने क्या होगा. उस दिन खुद मुख्य मंत्री केजरीवाल भूख हड़ताल पर बैठकर कानून तोड़ेंगे तो फिर अन्दाज कर लीजिये कि केजरावाल को अपने पुट्ठों पर कितने दिन सिकाई कराना पड़ेगी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY