आधार से प्राइवेसी खतरे में! कौन सी प्राइवेसी की बात कर रहे हैं आप?

Jyotirmay and Geet with aadhar card, Making India

ये तो बताइये, क्या आप के पास मोबाइल है और अगर है तो आप के नाम पर है? क्या आप रजिस्टर्ड मतदाता हैं? क्या आप के पास राशन कार्ड है?

क्या आप का कोई इन्श्योरेंस है? क्या आप का ड्रायविंग लायसंस या पासपोर्ट है? क्या आप का घर है?

अगर ये आप पढ़ रहे हैं तो आप कम से कम स्कूल में तो पढे ही होंगे? और अगर आप ये पीसी या लैपटॉप पर पढ़ रहे हैं तो आप के पास नेट होगा, मोबाइल पर पढ़ रहे हैं तो उसका उल्लेख पहले ही कर चुका हूँ.

और भी लंबी लिस्ट है, मतलब आप को कहीं भी कुछ भी चाहिए तो कोई सबूत देना जरूरी है जिसके बिना आप को वो चीज नहीं मिल पाएगी. कुछ तो आप की आइडेंटिटी का सबूत आप के पास होगा ही होगा.

अगर वो सबूत आप के पास है तो मतलब आप का नाम, पता और कई सारे संबन्धित डिटेल्स पहले ही किसी डाटा बेस पर हैं. और सरकार को इन सभी डाटा बेस का एक्सैस होता है.

मतलब आप का नाम, उम्र, जन्म दिन, रहने का या स्थायी पता, संपर्क – सब कुछ कब से सरकार के पास हैं और आप की फोटो भी. कहीं से भी आप प्राइवेट नहीं हैं

अगर प्राइवेसी को लेकर आप का कहना है कि आप के बारे में कोई न जाने. प्राइवेसी की बात इतनी ही है कि यह सब बातें सार्वजनिक नहीं कर दी जाये.

अब बताएं कौन सी प्राइवेसी की बात कर रहे हैं आप जो आधार से खत्म होगी? तो फिर आधार कार्ड को लेकर किस बात के लिए हल्ला मचाया जा रहा है?

आधार प्राइवेसी नहीं बल्कि anonymity (गुमनामी-बेनामी) खत्म कर देगा, आप बेनामी व्यवहार नहीं कर पाएंगे तथा टैक्स चोरी नहीं कर पाएंगे.

और यह लिखते समय यह भी जानता हूँ कि यह एक कोशिश है, भारतीय दिमाग की क्रिएटिविटी दुनिया में बेजोड़ है, खास कर जहां टैक्स चोरी की बात आती है.

इसका भी तोड़ निकाला जाएगा और उसके सब से बड़े लाभार्थी कोई सत्ता से संबन्धित लोग ही निकलेंगे. या फिर अब जो टैक्स चोरी कर रहे हैं उनमें से बड़ी मच्छलियाँ ही उन लूपहोल्स की लाभार्थी निकलेंगी.

हो सकता है अभी ही उसमें कुछ ऐसे लूपहोल बनाए गए हैं जो हम और आप को पता नहीं, ऊंचे लोगों को ऊंची बातें पता चल जाती हैं. हो सकता है.

फिर भी आधार के विरोध के लिए जो तर्क आ रहे हैं उससे लगता है कि आधार ने चोरों के आधार पर प्रहार किया है इसलिए इल्लुमिनाती तक के नाम लिए जा रहे हैं.

भाई क्या बकवास कर रहे हैं? जरा इस को दुबारा पढ़िये, आप के बारे में ऐसा कौन सा डाटा है जो प्राइवेट है आज?

अगर आप बीमार भी हुए हैं और उसकी ट्रीटमेंट किया है तो उसका भी रेकॉर्ड मिलेगा – अगर आप कोई क्रिमिनल एक्टिविटी से जुड़े नहीं हैं और ट्रीटमेंट अलग नाम से कराने की आप की मजबूरी नहीं है तो.

तो कौन सा डाटा प्राइवेट है आप का?

शायद इसका उत्तर यही आयेगा कि बेनामी संपत्ति या ब्लैक का धन.

और अगर आप का यह उत्तर है तो मेरे पास उसका ना उत्तर है और ना सहानुभूति.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY