PayTm बनी पेमेंट बैंक, जमा रकम पर ब्याज के साथ मिलेगा कैशबैक

नई दिल्ली. मोबाइल द्वारा डिजिटल पेमेंट की सुविधा देने वाली देश की बड़ी कंपनी पेटीएम आज से पेमेंट बैंक बन गई है. पेटीएम पेमेंट बैंक में खाता खुलवाने पर सालाना ब्‍याज के साथ साथ पैसा जमा करने पर कैशबैक भी मिलेगा.

आज से देश भर में पेटीएम वॉलेट को पेटीएम पेमेंट बैंक के रूप में जाना जाएगा. पेमेंट बैंक में खाता खुलवाने पर ग्राहकों को पेटीएम बैंक ने जमा पूंजी पर 4 प्रतिशत की दर से ब्याज और कैशबैक की पेशकश की है.

इसी प्रकार भुगतान बैंक के जरिये ऑनलाइन लेन-देन पर कोई फीस नहीं लेने और खाते में न्यूनतम बकाये की भी कोई शर्त नहीं रखी गई है.

कंपनी ने वर्ष 2020 तक 50 करोड़ ग्राहक अपने साथ जोड़ने का लक्ष्य रखा है. पेटीएम के भुगतान बैंक को चीन की अली बाबा और जापान के बड़े निवेश बैंक साफ्टबैंक का भी समर्थन हासिल है.

यही वजह है कि कंपनी ने दो साल के दौरान अपने बैंकिंग नेटवर्क के विस्तार के लिए 400 करोड़ रुपये की शुरुआती निवेश योजना बनाई है. इंडिया पोस्ट, एयरटेल के बाद पेटीएम देश की तीसरी कंपनी है जिसने भुगतान बैंक की शुरुआत की है.

पेटीएम भुगतान बैंक के चेयरमैन विजय शेखर शर्मा ने इस अवसर पर जारी एक वक्तव्य में कहा, ‘रिजर्व बैंक ने हमें दुनिया में एक नई तरह के बैंकिंग मॉडल की शुरुआत करने का मौका दिया है. हमें इस बात को लेकर गर्व है कि हमारे ग्राहकों की जमा पूंजी को सुरक्षित तरीके से सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश किया जा सकेगा और इसका इस्तेमाल राष्ट्र निर्माण में होगा. हमारी कोई भी जमा राशि किसी जोखिम वाली परिसंपत्ति में परिवर्तित नहीं होगी.’

पेटीएम के इस समय कई ग्राहक हैं जो उसके डिजिटल वॉलेट (बटुए) का इस्तेमाल करते हैं. इन ग्राहकों के बटुए को अब भुगतान बैंक में स्थानांतरित कर दिया जाएगा.

उपभोक्ताओं को अब खाता खोलने के लिये अपने ग्राहक को जानिये (केवाईसी) नियमों को पूरा करना होगा. कंपनी केवाईसी अनुपालन केन्द्रों को स्थापित कर रही है ताकि ग्राहकों के खाते खोले जा सकें.

पेमेंट बैंक खाता खोलने वाले प्रत्येक ग्राहक को खाते में 25,000 रुपये जमा होने पर 250 रुपये की नकदी वापस प्राप्त होगी. शुरुआत में पेटीएम भुगतान बैंक खाते केवल आमंत्रण आधार पर होंगे.

वक्तव्य में कहा गया है, ‘खाते में शून्य अधिशेष रखा जा सकेगा और प्रत्येक ऑनलाइन लेनदेन जैसे कि आईएमपीएस, एनईएफटी, आरटीजीएस पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा.’

बचत खाते पर कंपनी 4 प्रतिशत वार्षिक ब्याज देगी और अपने लाखों व्यापारियों के लिये चालू खाता खोलने की भी पेशकश करेगी.

पेटीएम की बैंक खुलने के पहले साल में 31 शाखायें खोलने की योजना है. इसके साथ ही 3,000 ग्राहक सेवा केन्द्र भी खोले जायेंगे. पेटीएम के ग्राहक अपने पेटीएम वॉलेट को पहले की ही तरह इस्तेमाल कर सकेंगे.

पेटीएम अपने ग्राहकों को देश के किसी भी एटीएम से नकदी निकालने के लिए आग्रह करने पर तुरंत आभासी रुपे डेबिट कार्ड और भौतिक रूप में भी कार्ड उपलब्ध करायेगा.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY