मोदी हर मुद्दे पर फेल, अगली बार लालू सरकार

सोनिया गांधी द्वारा देश पर थोपे गए डॉ मनमोहन सिंह के दस साल के शासन काल में भ्रष्टाचार, अकर्मण्यता, Policy Paralysis अपने चरम पर था.

पहले 5 साल तो मनमोहन सिंह अपने पूर्ववर्ती अटल बिहारी वाजपेयी जी की कमाई खाते रहे. अगले 5 साल के कार्यकाल में उनकी पोल खुली और हर पैमाने पर देश गर्त में चला गया.

मनमोहन सिंह की सरकार के भ्रष्टाचार और policy Paralysis को मोदी जी ने भुनाया और कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष को 2014 के चुनाव में मटियामेट कर दिया.

आज मोदी जी की सरकार को 3 साल पूरे होने को आये. उनकी सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई दाग नही.

देश में आधारभूत मने कि Basic Infrastructure पर ये सरकार शानदार काम कर रही है. जो काम आज से 30 या 40 साल पहले होने चाहिए थे, वो ये सरकार अब कर रही है.

जैसे कि जिन सड़कों को आज से 30 साल पहले 8 लेन होना चाहिए था उन्हें आज 4 लेन बनाने का काम चल रहा है.

दिल्ली हावड़ा या दिल्ली मुम्बई, मुम्बई गुवाहाटी जैसे रेल रुट जिन्हें आज से 20 साल पहले 4 लेन होना चाहिए था, उनको आज Dedicated Freight Corridor बना के 4 लेन बनाने का प्रयास हो रहा है.

सबसे बड़ी बात ये कि सरकार पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ विकास कार्यों में लगी है. सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इस सरकार ने कुछ ऐसे काम शुरू करने की हिम्मत दिखाई है जिनके परिणाम 20 से 25 साल में आते हैं.

उदाहरण के लिए स्वच्छ भारत… दुनिया में आज जितने भी मुल्क बेहद साफ सुथरे हैं, किसी ज़माने में वो सब भी भारत की तरह ही गंदे थे. उनको भी साफ सुथरा होने में 20-25 साल लगे.

उनके सामने चुनौती भी बहुत छोटी थी क्योंकि उनके मुल्क को गंदा करने वाले लोग बहुत थोड़े से थे, बमुश्किल 2-4 या 10 करोड़.

उनको सिर्फ 10 करोड़ लोगों को शिक्षित करना था कि भैया मुल्क को साफ रखो… मोदी जी को तो 125 करोड़ को शिक्षित करना है कि मुल्क को साफ रखो…

स्वच्छ भारत के परिणाम भी कुछ साल बाद मिलेंगे, वो भी तब जबकि मोदी जी एक टाइम टेबल के तहत आगे चल के धीरे-धीरे कुछ सख्ती करनी शुरू करेंगे.

तब जबकि सड़क पर कूड़ा फेंकने पर लोगों का 500 रूपए का चालान होगा जैसे कि सिंगापुर और इंग्लैंड में होता है. तब जबकि नगर पालिकाओं पर करोड़ों रूपए के जुर्माने होंगे, शहर को साफ न करने के एवज में…

इसी तरह रेलवे… कम से कम 20 साल लगेंगे जब कि देश का प्रत्येक व्यस्त रूट 4 लेन होगा और मुम्बई पटना के लिए हर 10 मिनट पर एक सुपरफास्ट ट्रेन होगी.

तब जा के हमारी ट्रेनों की पशु श्रेणी सरीखे जनरल डिब्बे मनुष्यों के डिब्बे बनेंगे…

जो लोग स्मार्ट सिटी पर सवाल उठा रहे हैं वो जानते ही नही कि स्मार्ट सिटी है क्या और कितने दशक लग जाते हैं एक स्मार्ट सिटी बनाने में?

भारत का प्रत्येक शहर बेतरतीब, बिना किसी प्लानिंग के बसा है. यहां तक कि हाल में बसे गुड़गांव जैसे नए शहर भी बिना किसी प्लानिंग के बसा दिए गए हैं जहां ट्रैफिक, सीवर जैसी आधारभूत चीज़ें तक नही हैं… ऐसे में वाराणसी और कलकत्ते जैसे पुराने शहर की कौन कहे?

एक केजरीवाल भक्त पूछ रहा था कि 3 साल में बुलेट ट्रेन के कितने डिब्बे बने? उस से पूछो कि बुलेट ट्रेन होती क्या है, ये जानते हो? कितने साल लगेंगे उसे बनाने में?

ये मोदी जी की हिम्मत है कि उन्होंने स्वच्छ भारत, स्मार्ट सिटी और बुलेट ट्रेन जैसे विषयों पर भी काम करना शुरू किया.

दरअसल आज विपक्ष के पास मोदी सरकार को घेरने के लिए कोई घोटाला, कोई भ्रष्टाचार नहीं है. इसलिए अब वो उन्हें कश्मीर, नक्सलवाद, 370, राम मंदिर, आरक्षण जैसे मुद्दों पर घेर रहे हैं.

मोदी से आशा की जाती है कि वो रातों रात इस्लाम से आक्रामकता हटा दें… अलगाववाद हटा दें और कश्मीर समस्या हल कर दें.

मोदी से आशा की जाती है कि वो 125 करोड़ लोगों में ईमानदारी, कर्तव्य निष्ठा, चरित्र जैसे गुण ले आएं और जादू की छड़ी से हमारी रग-रग में समाया भ्रष्टाचार दूर कर दें.

मोदी से आशा की जाती है कि वो 125 करोड़ लोगों को स्वच्छता का पाठ पढ़ा के, देश की हर नदी नाले के किनारे बसे शहर कस्बे गांव में सीवर ट्रीटमेंट प्लांट लगा के गंगा को साफ कर दें.

जबकि जमीनी सच्चाई ये है कि जालंधर नगर निगम सीवर ट्रीटमेंट प्लांट होने के बावजूद अपना सीवर बिना ट्रीटमेंट के आज भी बदस्तूर पवित्र बेईं नदी में बहा रहा है… क्यों?

सीवर ट्रीटमेंट प्लांट चलाने में खर्चा लगता है और नगर निगम का ठेकेदार वो पैसा चुरा लेता है. मोदी जी आ कर पहरा दो यहां…

अब मोदी को हरियाणा में स्कूली लड़कियों की आड़ में घेरा जा रहा है… हरियाणा में लड़कियों को अब हर गांव में +2 तक स्कूल चाहिए. हम बगल के गांव में नही जाएंगी… लड़के छेड़ते हैं…

मोदी सरकार हर मुद्दे पर फेल है… मोदी का बेटी बचाओ फेल है… मोदी के राज में लड़के लड़कियाँ छेड़ते हैं…

हमको 2 महीने में स्मार्ट सिटी और बुलेट ट्रेन दो… 16 साल में तो मनमोहन सिंह भी बना देते… फिर मोदी को वोट किसलिए दिया?

इसलिए कि मोदी 2 महीने में स्मार्ट सिटी, 3 महीने में बुलेट ट्रेन, चौथे महीने में कश्मीर समस्या हल, पांचवे में नक्सली, छठे में मुसलमान को सुधार देंगे…

बनारसियों को थूकना सिखा देंगे…. मोदी राज में हरियाणा के लड़के, लड़की छेड़ना बंद कर देंगे.

मोदी हर मुद्दे पर फेल है… अगली बार लालू सरकार.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY