मोदी विरोध में तीव्र तेजी!

मेरा भरोसा कायम है, मैंने उन्हें “1 के बदले 10 सिर ” के विचार पर नहीं अपनाया था 14 साल पहले!

मैं उनके 80,000 करोड़ के कश्मीर पैकेज का भी समर्थन करता हूँ…..

नक्सलियों के खिलाफ सेना, वायुसेना के न भेजने के फैसले की भी सराहना करता हूँ!

क्योंकि मैं ये जानता हूँ कि जब भी मोदी पाकिस्तान से युद्ध करेंगे वो कुछ हजार पाकिस्तानी सैनिकों को हलाक करने के लिए नहीं होगा बल्कि वो एक बड़े लक्ष्य के लिए होगा….

क्योंकि मैं जानता हूँ जब युद्ध होगा तो हमें पाकिस्तानी लाशें गिनने की जरुरत ही नहीं पड़ेगी……

क्योंकि मैं जानता हूँ जब युद्ध होगा तो दुनिया का नक्शा बदल जायेगा…..

क्योंकि मैं जनता हूँ जब भी युद्ध होगा तो देश में एक बड़ा भीतरघात भी होगा जिसके केंद्र में कई मुस्लिम संगठन, वामपंथी, मानवाधिकार संगठन, बुद्धिजीवी होंगे…..

क्योंकि मैं जानता हूँ अब जब भी युद्ध होगा… हम युद्ध मैदान मै भी जीतेंगे और युद्ध के बाद टेबल पर भी… वैसे नहीं जैसे 1971 में 90,000 पाकिस्तानी सैनिक को मुफ़्त में लौटा दिया गया था!

मुझे विश्वास है कि भगवान् न करे कि कभी हो, लेकिन अब जब भी होगा युद्ध किसी बड़े लक्ष्य के लिए होगा. न कि सिर्फ 10 सरों के लिए!

मुझे संतोष है कि अभी तक मोदी जी ने बिलकुल वो ही किया है जो देश के प्रधानमंत्री को करना चाहिए था.

रही बात कश्मीर की, तो वो अब एक क्षेत्रीय या राजनितिक समस्या नहीं रह गयी है बल्कि पूरी तरह इस्लामिक समस्या बन चुकी है जिससे आने वाले दिनों में भारत के 20 करोड़ मुसलमान भी जुड़ जायेंगे!

मोदी जी पर मेरा भरोसा कायम है, आप अपना देख लें……!!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY