गोरखपुर के दूसरे दौरे में योगी ने किया 261 करोड़ की लागत की परियोजनाओं का शिलान्यास

गोरखपुर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में 261 करोड़ 62 लाख रुपए की लागत से शुरू होने वाली 12 से अधिक योजनाओं/ परियोजनाओं का शिलान्यास किया.

गोरखपुर दौरे के दौरान गोरखनाथ मंदिर में रुके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रोज की तरह रविवार सुबह अपनी दिनचर्या की शुरुआत योग-साधना, गो सेवा एवं गुरु गोरखनाथ की पूजा से की.

यहां उन्होंने मंदिर की गोशाला में गायों-गोवंशों को गुड़ एवं हरा चारा खिलाया. वह गोशाला में कुछ समय तक रहे तथा वहां सभी गायों को देखते-पुचकारते बाहर निकले.

जिन परियोजनाओं की शुरुआत मुख्यमंत्री ने की उनमें महिला छात्रावास एवं आईएएस, पीसीएस तथा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग भवन का निर्माण शामिल है.

योगी ने इसके अलावा स्थानीय तारामंडल के निकट बहुमंजिली भवन का निर्माण, रामगढताल परियोजना के तहत सर्किट हाउस के निकट पार्क का निर्माण, वीर बहादुर सिंह स्पोट्स कालेज गोरखपुर में ड्रेनेज सिस्टम का निर्माण तथा चौधरी चरण सिंह निरीक्षण गृह गोरखपुर का जीर्णोद्धार एवं मरम्मत का कार्य शामिल है.

इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार की आईपीडीएस स्कीम को लागू करने के लिए विद्युत विभाग के पांच 33/11 के.वी. विद्युत उप केन्द्र के निर्माण कार्य का भी शिलान्यास किया.

इसके अलावा गोरखपुर में एलटी लाइन को अंडरग्राउंड केबिल में बदलने के कार्य का भी शिलान्यास किया. उन्होंने रामगढ़ताल परियोजना में 1000 क्षमता के बहुपयोगी प्रेक्षागृह एवं सांस्कृतिक केन्द्र के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया.

परिवहन निगम के राप्तीनगर बस स्टेशन के पुनर्निर्माण कार्य तथा नौगढ़ में सेटेलाइट बस स्टेशन के नवनिर्माण कार्य का भी शिलान्यास किया.

इसके अतिरिक्त पूर्वान्चल के लोगों की समस्याओं के सामाधान के लिए नन्दानगर में रेलवे लाइन के नीचे फोरलेन अन्डरपास के निर्माण कार्य एवं सर्किट हाउस परिसर में एनेक्सी भवन के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया.

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश जैसे विशाल प्रदेश के साथ साथ पूरे देश का सर्वांगीण विकास करना हमारा लक्ष्य है, उनके संकल्पों को पूरा करने के लिए उत्तर प्रदेश की जनता ने भाजपा की सरकार बनाई है, इसलिए अब हम सब का दायित्व बन जाता है कि सरकार और जनता दोनों मिलकर उत्तर प्रदेश को सर्वोत्तम प्रदेश बनाने के लिए कार्य करें.

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में मेधावी छात्र प्रदेश छोड़कर दूसरे राज्यों में नौकरी तलाशने के लिए चले जाते थे लेकिन अब उनकी सरकार नौजवानों के लिए ऐसी योजना एवं माहौल बना रही है ताकि अब उन्हें दूसरे राज्यों में जाने की जरूरत नहीं पड़े.

योगी ने कहा कि वर्तमान समय में जिला मुख्यालयों को 24 एवं तहसील मुख्यालयों में 20 तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे विद्युत आपूर्ति हो रही है. उनकी सरकार का पूरा प्रयास होगा कि 2018 से प्रदेश में 24 घंटे की विद्युत आपूर्ति शुरू हो जाए.

उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे के अन्दर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 48 घंटे के अन्दर खराब बिजली के ट्रांसफार्मर बदल दिए जाएं, लेकिन उसके लिए आवश्यक है कि प्रदेश में बिजली चोरी रोकी जाए.

उन्होंने कहा कि सभी लोग अपने बिजली के बिल का भुगतान समय से करें, जिससे सरकार गरीबों को नि:शुल्क विद्युत कनेक्शन दे सके.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर अपनी फरियाद सुनाने के लिए बड़ी संख्या में लोग आज सुबह से ही गोरखनाथ मंदिर पहुंचे हैं. इनमें बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग भी हैं जो योगी से मिलने के लिए मंदिर परिसर में काफी देर से प्रतीक्षा कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ शनिवार को दूसरी बार गोरखपुर पहुंचे हैं. वे गोरखपुर में दो दिन रहेंगे. इस दौरान सीएम योगी गोरखपुर व देवरिया (सलेमपुर) में विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY