राहुल के निर्देश को ठेंगा दिखा मणिपुर के चार कांग्रेसी विधायक भाजपा में शामिल

इंफाल. उत्तर पूर्वी राज्यों में कांग्रेस को मज़बूत कटाने के राहुल गांधी के निर्देश को ठेंगा दिखाते हुए मणिपुर में कांग्रेस के चार विधायक भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए है.

महज़ एक दिन पहले ही उत्तर पूर्वी राज्यों में पार्टी को मजबूत करने के उपायों पर विचार के लिए राहुल गांधी ने पार्टी समन्वय समिति की बैठक की अध्यक्षता की थी.

कांग्रेस विधायक वाई सुरचंद्रा, नगाम्थांग हाओकिप, ओ लुखोई और एस बीरा आज मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के भाबानदा की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हो गए.

इस मौके पर भाजपा के उत्तर पूर्व मामलों के प्रभारी राम माधव और नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के संयोजक हिमंता बिस्वासर्मा भी इस मौके पर मौजूद रहे.

उल्लेखनीय है कि मणिपुर में इसी साल विधानसभा चुनाव हुए थे। कांग्रेस ने सबसे ज्यादा सीटें जीती थी लेकिन वह सरकार बनाने में असमर्थ रही थी. वहीं बीजेपी दूसरे नंबर की पार्टी होते हुए भी सरकार बनाने में कामयाब हुई थी. इस पर काफी विवाद भी हुआ था।

60 सदस्यीय मणिपुर विधानसभा के हाल में सपंन्न चुनाव में कांग्रेस 28 सीट जीत कर सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी. सरकार बनाने के लिए 31 के बहुमत से कांग्रेस 3 सीट दूर रही.

भाजपा ने इस चुनाव में 21 सीट जीती थीं. फिर भी भाजपा, एनपीपी और एनपीएफ जैसी क्षेत्रीय पार्टियों के समर्थन से मणिपुर में अपनी सरकार बनाने में सफल रही.

मणिपुर से तृणमूल कांग्रेस के इकलौते विधायक टी रोबिंद्रो सिंह ने सदन में विश्वास मत के दौरान भाजपा का समर्थन किया था. रोबिंद्रो सिंह ने भी आज औपचारिक तौर पर भाजपा के साथ विलय कर लिया.

इस अवसर पर हिमंता बिस्वासर्मा ने कहा, ‘राहुल गांधी ने कल अपनी पार्टी के नेताओं के साथ उत्तर पूर्व में कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए बैठक की थी और आज उनके चार विधायक भाजपा में शामिल हो गए. ये अपने आप में दिखाता है कि राहुल जी यहां कांग्रेस की ओर आगे प्रगति नहीं दिखा सकते.’

बिस्वासर्मा ने कहा कि हम कांग्रेस मुक्त उत्तर पूर्व के लिए काम कर रहे हैं. हमने असम, अरुणाचल और मणिपुर में कामयाबी पाई है और अब हम मेघालय और त्रिपुरा में काम कर रहे हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY