देवास : कन्नौद में बनेगा स्टेशन, 30 नए स्टेशनों से होकर गुजरेगी नई रेलवे लाइन

कन्नौद. इंदौर-जबलपुर नई रेल लाइन परियोजना का डिटेल सर्वे पूरा हो गया है. परियोजना में इंदौर जबलपुर सहित कुल 34 स्टेशन होंगे, 30 नए स्टेशनों का निर्माण होगा. गाडरवाडा, बुधनी, मांगलिया, जंक्शन में तब्दील होंगे.

2016– 17 के रेल बजट में परियोजना की घोषणा की गई थी. इसके बाद पश्चिम मध्य रेल जबलपुर जोन मुख्यालय ने इसका डिटेल सर्वे शुरू किया. इसे पूरा करने में 13 महीने लगे. 31 मार्च 2017 के पहले रिपोर्ट दिल्ली भेजी दी जायेगी. रेल ब्रिज पुलियों के निर्माण स्थल तय कर लिए गए हैं. इसके साथ ही कहां जंगल से होकर रेल लाइन बिछेगी, कहां पहाड़ काटना होगा, यह भी फाइनल हो गया है.

यह है परियोजना

4320 करोड़ अनुमानित लागत, 342 किलोमीटर दिखेगी नई लाइन, 470 किलोमीटर रह जाएगी जबलपुर इंदौर की दूरी, 128 किलोमीटर जबलपुर गाडरवाड़ा के बीच पहले से ट्रेनों का संचालन, जबलपुर, गाडरवारा, उदयपुर, बुधनी, कन्नोद, इंदौर रूट रहेगा.

यह बनेंगे नए स्टेशन

आमगांव, बसखेरा, केलाकच्छ, उदयपुरा, अनवरिया, बैनगनिया, बरेली, कोथरी, शिवटाला, बकतरा, डोबी, सुडोन, रामनगर, बालकेरा, मथनी, बरघेऊ, नसरुल्लागंज, बालागांव, बापचा, पीपलिया, खातेगांव, सिरसोदिया, कन्नोद, देवली, बोरानी, खेरी, आखेपुर, भोखाखारी आदि.

अभी इतनी दूरी है इदौर से जबलपुर की

नर्मदा एक्सप्रेस –599 किलोमीटर जबलपुर, भोपाल, उज्जैन, इंदौर
ओवरनाइट– 554 किलोमीटर
जबलपुर, भोपाल, देवास, इंदौर
इंटरसिटी– 758 किलोमीटर
जबलपुर, कटनी, गुना, इंदौर.

इदौर, कन्नौद, बुधनी, उदयपुरा, गाडरवारा, जबलपुर, नई रेलवे लाइन डल जाने पर 470 किलोमीटर दूरी कम हो जाएगी.

खातेगांव विधानसभा के पूर्व विधायक कैलाश कुंडल द्वारा मध्यप्रदेश विधानसभा के 1993- 94 के सत्र में रखे गए अशासकीय संकल्प जो सर्वानुमति से सदन से पास का होकर भारत सरकार को भेजा गया था .वह धीरे-धीरे कार्य रूप में परिणित होते दिखाई देने लगा है .

आज  यह संदेश मिला कि 13 महीने की मेहनत के बाद  रेल लाइन की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट रेल मंत्रालय को पेश हो चुकी है. इसके अंतर्गत गाडरवारा से बरेली होते हुए रेल लाइन पर आने वाले गांवों में मुख्य रूप बकतरा के बाद नये स्टेशन प्रस्तावित किए गए हैं इसके अलावा रास्ते में पड़ने वाले पुल पुलियों भी प्रस्तावित की गई है अब रेल मंत्रालय राजस्व विभाग एवं वन विभाग की भूमि व निजी किसानो की भूमि के अधिग्रहण की कार्यवाही पूर्ण पर एओसी प्राप्त कर पुन: रेल मंत्रालय को भेजकर प्रक्रिया को आगे बढ़ाएगी.

इनका यह कहना है

जबलपुर इंदौर नई रेल लाइन परियोजना का सर्वे पूरा हो गया है. मार्च में ही रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को भेजी जाएगी इसके बाद तेजी से काम शुरू कर दिया जाएगा.

(सीपीआरओ रेलवे जबलपुर द्वारा जारी जानकारी )

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY