दूसरे की थाली की रोटियाँ गिनना छोड़िये, क्या हुआ जो खा ली 13 हज़ार की थाली

आई ऑब्जेक्ट… ये तो सरेआम बेईमानी है…. बदतमीजी है…. मने अब ये संघी, गरीब आदमी को खाना भी न खाने देंगे?

मने अब आम आदमी, गरीब आदमी क्या खायेगा, कितना खायेगा, ये भी नागपुर में बैठे चितपावन बाभन तय करेंगे!

बेचारा गरीब आम आदमी…. गरीब की थाली में झांका जा रहा है…. गरीब की रोटियां गिनी जा रही हैं.

अपने सड़ जी त्याग और तपस्या की मूर्ति हैं…. सृष्टि के एकमात्र ईमानदार आदमी हैं और अक्खी सृष्टि में एकमात्र उनकी आम अमरूत पाल्टी है जो कि ईमानदार है.

पर भैया….. आदमी भ्रष्ट होय चाहे ईमानदार….. भूख तो बराबर लगती है न सबको? सो आम अमरूत पाल्टी के सादगी पसंद, ईमानदार आम आदमियों ने होटल से सिर्फ 13,000 रु की शाही डीलक्स थाली मंगवा के खा ली, तो इसमें ऐसा क्या पहाड़ टूट पड़ा?

संघियों को ये गंदी आदत छोड़ देनी चाहिए…. दूसरों की थाली की रोटियां गिनना….

पर यहां पंजाब में चर्चा ये है कि अपने सड़ जी की 13000 रु की थाली में ऐसी कौन सी शक्तिवर्धक दवाइयां और स्वर्ण भस्म और हीरे की भस्म पड़ती थी?

बताया जा रहा है कि सड़ जी की दाल fry में शिलाजीत पड़ता था और सड़ जी के शाही पनीर में हीरे की भस्म डाली जाती है….

अब ऐसी दुर्लभ आयुर्वेदिक दवाओं की हर्बल आयुर्वेदिक थाली की कीमत तो 13,000 होना लाजमी है.

पंजाब में सवाल ये नहीं है कि थाली 13000 की थी, सवाल ये है कि 13000 हज़ार का शिलाजीत और हीरक भस्म खा के भी पाल्टी खड़ी न हुई???

Scam है जी…. सब मिले हुए हैं जी…. हम तो भोत गरीब लोग हैं जी…. हम तो भोत छोटे लोग हैं जी….

हमारे पास कहां हैं इतने पैसे? हम VVIP culture के भोत खिलाफ हैं जी…. हम न बड़ा बंगला लेंगे, न बड़ी गाड़ी…. और न हम सिक्योरिटी लेंगे….

दिल्ली वालों बस हमारे कू 13000 की मौर्या शेरेटन की दाल बुखारा वाली थाली खिला देना…. शिलाजीत और स्वर्ण भस्म डाल के….

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY