जादवपुर यूनिवर्सिटी में लगे कश्मीर, मणिपुर, नगालैंड की आज़ादी के नारे

नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के बाद अब पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता स्थित प्रसिद्ध जादवपुर यूनिवर्सिटी में ‘आजादी’ के विवादास्पद नारे लगाने का मामला सामने आया है.

जादवपुर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वे आजादी के नारे लगा रहे हैं. इस वीडियो में दिख रहा है कि छात्र कश्मीर और मणिपुर के साथ नगालैंड की आजादी की मांग कर रहे हैं.

दरअसल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिन्दु, बौद्ध तथा इसाइयों पर होने वाले अत्याचार के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय सेमिनार बुलाई थी. इसी के विरोध में छात्र विभाग के बाहर एकत्र होकर प्रदर्शन कर रहे थे, तभी उनमें एक छात्र सुबोमोय शोम ने आजादी के ये नारे लगाए.

विडियो यूनिवर्सिटी कैंपस का है जिसमें फाइन आर्ट्स डिपार्टमेंट के बाहर लाल शर्ट पहने एक छात्र करीब 25-30 अन्य छात्र-छात्राओं के घेरे के बीच में घूम-घूमकर आजादी के नारे उछाल रहा है. 27 सेकंड के इस विडियो के शुरुआती 5 सेकंड में आवाज काफी धीमी है लेकिन ‘आजादी’ शब्द सुनाई दे रहा है.

इसके बाद आवाज तेज होती है और छात्र नारे लगाते हैं- आगे से बोलो, आजादी! पीछे से बोलो, आजादी! इसके बाद देश के अलग-अलग हिस्सों की आजादी के नारे लगाते हुए छात्र कहते हैं- कश्मीर मांगे, आजादी! मणिपुर मांगे, आजादी! नगालैंड मांगे, आजादी!

नारेबाज़ छात्र शोम का कहना है कि, ‘बांग्लादेश के अल्पसंख्यकों के मुद्दे पर RSS के सेमिनार के विरोध में यह प्रदर्शन है. RSS मुजफ्फरनगर और गोधरा में हजारों लोगों की मौत का कारण रहा है. हमें उनकी मंशा पर शक है. हमें लगता है वे अपने सांप्रदायिक हित साध रहे हैं.’

गौरतलब है कि पिछले साल जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में संसद हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरु की बरसी पर पहली बार इस तरह आजादी के नारे लगाए गए थे.

इस घटना के बाद JNU के छात्र कन्हैया कुमार और उमर खालिद को जेल जाना पड़ा था. उस दौरान भी जादवपुर यूनिवर्सिटी में JNU के समर्थन में प्रदर्शन किया गया था.

JNU में कश्मीर की आजादी के अलावा भारत तेरे टुकड़े होंगे जैसे नारे लगाए गए थे. इसके बाद जमकर हंगामा हुआ था. दिल्ली पुलिस ने एक्शन लेते हुए कन्हैया कुमार और उमर खालिद को गिरफ़्तार कर लिया था.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY