कांग्रेस की लीडरशिप नहीं, ईवीएम बदलो…

देश का सेक्युलर गिरोह सही जा रहा है. कहावत है नाच न जाने आंगन टेढ़ा. अगर नाचना नहीं आता तो आंगन पर आरोप लगाओ की वो टेढ़ा है…..

फिर धरने पर बैठ जाओ और मांग करो कि आंगन को JCB से खुदवा दिया जाए.

पिछले महीने सम्पन्न हुए चुनाव में उत्तरप्रदेश में कांग्रेस की लहर नहीं सुनामी बह रही थी. जनता ने दरअसल सपा, बसपा और कांग्रेस के पक्ष में वोट डाला था.

पर मोदी और अमित शाह ने चुनाव आयोग को खरीद लिया और ईवीएम की ऐसी सेटिंग की कि सपा, बसपा और कांग्रेस का सारा वोट भाजपा के खाते में चला गया.

मज़े की बात कि उसी बिकाऊ चुनाव आयोग ने पंजाब में मोदी और अमित शाह के हाथों बिकने से इनकार कर दिया और भाजपा 3 सीट पर सिमट गई.

चुनाव आयोग यूपी में मोदी, अमित शाह के हाथों बिका तो पंजाब में कैप्टेन अमरेंद्र सिंह के हाथों. वहां ईवीएम ने AAP का सारा वोट कांग्रेस के खाते दर्ज किया जिससे 100 सीट जीतने जा रही AAP 20 सीट पर आ गयी.

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस आज अकेले उत्तरप्रदेश में 300 सीट जीतने की क्षमता रखती है. सारा खेल तो ईवीएम ने बिगाड़ा है….

कांग्रेस की लीडरशिप नहीं ईवीएम बदलो…. राहुल बाबा को अध्यक्ष बनाओ और चुनाव वापस बैलट पेपर से कराओ…..

फिट है बॉस….. लगे रहो…. सही जा रहे हो…. आने वाला कल तुम्हारा ही है….. JCB लगा के खोद दो…..

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY