कोलंबिया में भारी बारिश के बाद भूस्खलन, 250 की मौत

कोलंबिया. कोलंबिया में भारी बारिश ने तबाही मचा दी है. कोलंबिया के दक्षिण-पश्चिम इलाके में भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से 250 से अधिक लोग मारे गए हैं.

भूस्खलन से बड़ी संख्या में लोग मलबे में दब गए हैं. सैकड़ों लोग जख्मी हुए हैं. वहीं बड़ी संख्या में लोग लापता हैं.

भूस्खलन के चलते कई इलाके दलदल बन गए हैं. साथ ही भारी बारिश के बाद नदियां ऊफान पर हैं और खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं.

शुक्रवार को कोलंबिया के मोकोवा में मूसलाधार बारिश हुई. इसके बाद दक्षिण कोलंबिया के मोकोवा शहर में बड़े पैमाने पर भूस्खलन हुआ.

भूस्खलन ने पूरे इलाके में तबाही मचा दी. लोगों के घर तबाह हो गए, इमारतें ध्वस्त हो गईं. साथ ही बड़े-बड़े पुल और पेड़ भी जमीन से उखड़ गए.

पुटुमेयो प्रांत में भारी तबाही की खबर है. यहां बड़ी संख्या में लोग लापता हैं. रातभर हुई भारी बारिश की वजह से नदियां उफान पर आ गईं. किनारों को तोड़कर कीचड़ के साथ पानी घरों में घुस गया.

पुटुमायो प्रांत की सीमा इक्वाडोर और पेरू से लगती है. सेना के एक अधिकारी का कहना है कि मुख्य अस्पताल में इतनी भीड़ हो गई है कि उन्हें संभालने में दिक्कत हो रही है.

पेरू में भी भारी बारिश की वजह से भूस्खलन हुआ है. पेरू में इस साल भारी बारिश की वजह से अभी तक 90 लोग मारे जा चुके हैं.

राष्ट्रपति जुआन मैन्युल सांतोस ने हालात को गंभीर बताया. वह खुद प्रभावित इलाकों में पहुंचे और राहत-बचाव का जायजा लिया. राष्ट्रपति ने हवाई दौरा कर तबाही का जायजा लिया.

राहत और बचाव के लिए सैनिकों को तैनात किया गया है. लापता लोगों को तलाशने का अभियान जारी है.

सरकारी मौसम विभाग के मुताबिक कोलंबिया में मार्च के महीने में सबसे अधिक बारिश होती है और ये सिलसिला साल 2011 से जारी है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY