अब दुनिया में कोई भी बूढ़ा नज़र नहीं आयेगा!

एक ज़माना था जब दुनिया में ‘चेचक बीमारी’ का प्रकोप था, उस समय रास्ते में अगर कोई काना मिल जाए तो कई लोग उसे अनहोनी मान कर अपना रास्ता बदल देते थे.

उस समय पूरी दुनिया में हर 20 आदमियों में 5 लोग ऐसे होते थे जिनके मुंह पर चेचक के दाग होते थे, इस कारण वे कुरूप दिखते थे. अब पूरी दुनिया से चेचक के वायरस को टीका लगा लगाकर हमेशा हमेशा के लिए विदा कर दिया गया है.

अब धरती पर कहीं भी चले जाइये आपको कहीं कोई काना या चेचक के दाग वाला नौजवान ढूंढे भी नहीं मिलेगा. इसी तरह जल्दी ही पोलियो का वायरस सब जगहों से साफ हो जावेगा तो कोई इस बीमारी के कारण लंगड़ा नजर नहीं आयेगा.

इसी तरह वैज्ञानिकों ने बुढ़ापे की औषधि को ढूंढ लिया है. अब अगले तीन सालों में ही Nicotinamide Mononucleotide (निकोटिनामाइड मोनोन्युक्लिओटाइड़) नामक दवाई बाजार में आने वाली है जिसे संक्षिप्त में एन एम एन (NMN) भी कहा जाएगा. इसके सेवन के बाद 90 साल का बूढ़ा आदमी भी 25 साल के जवान जैसा लगने लगेगा.

अभी ताजा विज्ञान की शोध पत्रिका में डॉ डेविड़ सिनक्लेयौर तथा उनकी टीम ने चूहों पर इस दवाई का सिर्फ एक हफ्ते प्रयोग करके चौकाने वाले नतीजे पाये है. उन्होंने देखा कि अधिक आयु का बूढ़ा चूहा पूरी तरह से जवान चूहे जैसा दिखने लगा.

दरअसल एन एम एन के उपयोग के बाद जीव कोशिका के हर सेल में मौजूद NAD+ नामक मेटाबोलाइट का लेवल बढ़ जाता है. यह NAD+ प्रत्येक कोशिका में मौजूद क्षतिग्रस्त डी एन ए को रिपेयर कर देता है.

असल में बुढ़ापा आने का एक मात्र कारण यही है कि शरीर में मौजूद कोशिकाओं के सेल में निवास करने वाले DNA क्षतिग्रस्त होने लगते हैं. अगर इन डी एन ए की टूट फूट को किसी प्रकार ठीक कर दिया जाये तो जीव कोशिका एकदम तरोताजा बनी रहेंगी और फिर आदमी या औरत 90 साल की भी क्यों न हो जाएं, उनके चेहरे पर 20-25 साल की जवानी की आयु वाला नूर टपकने लगेगा.

जरा कल्पना कीजिये उस दिन की जब आपके परिवार में कैसा लगेगा, क्योंकि आपके दादा-दादी, नाना-नानी, पिता-माता और उनके सभी रिश्तेदार सब कोई सुन्दर और आकर्षक व्यक्तित्व के नजर आने लगेंगे.

उस समय आपको यह पहिचानने में मुश्किल होगी कि आपकी पत्नी ज्यादा जवान दिख रहीं हैं या आपकी माता जी? कैसा विचित्र लगेगा जब आपके परिवार का ग्रुप फोटो खिचेगा जिसमें सब कोई जवान नजर आवेगा.

यूनिवर्सिटी आफ साऊथ वेल्स आस्ट्रेलिया और हारवर्ड मेडीकल स्कूल अमेरिका के वैज्ञानिक बुढ़ापे को छूमन्तर करके भगाने वाली इस जादुई दवाई एन एम एन की क्लीनिकल ट्रायल आदमियों पर अगले छ: महिनों में पूरी करने जा रही है. अब जल्दी ही, लगभग अगले तीन साल के भीतर ही यह दवा बाजार में आपके लिए उपलब्ध होने लगेगी.

बुढापा भगाने वाली इस दवाई का उपयोग नासा मंगल ग्रह पर जाने वाले अन्तरिक्ष यात्रियों पर भी करेगी जिससे लम्बी दूरी की शून्य गुरुत्वाकर्षण की यात्रा में उनके डी एन ए सलामत रहें. उनके पास बुढापा फटक भी न सके.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY