कौन कैसे जान छोड़ता है, इसी से तय होता है वो हमारी सभ्यता में खाद्य है या नहीं

एक मुर्गी की जान कितनी होती है, कुछ नहीं होती है…. ये गर्दन पकड़ी, दो बार घुमाई और काम ख़त्म….. एक बकरे की जान कितनी होती है… मार के देख लेते हैं… बकरे के पैर बाँध दीजिये… एक बड़ा चाकू लेकर बकरे की गर्दन में चीरा मार दो.. दिल सारा खून पंप करके बाहर फेंक … Continue reading कौन कैसे जान छोड़ता है, इसी से तय होता है वो हमारी सभ्यता में खाद्य है या नहीं