उत्तराखंड का पूर्व मंत्री मौलाना मसूद मदनी रेप केस में गिरफ़्तार

सहारनपुर. बेऔलाद महिलाओं को बच्चे पैदा करने के नाम पर उनके साथ दुष्‍कर्म करने के आरोपी मौलाना मसूद मदनी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. मदनी उत्तराखंड में नारायण दत्त तिवारी की सरकार में राज्य मंत्री रह चुका है.

हरियाणा के जींद की रहने वाली एक अन्य समुदाय की एक महिला ने मसूद मदनी के खिलाफ देवबंद कोतवाली में एक दिन पूर्व शुक्रवार शाम को दुष्‍कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया था.

महिला का आरोप है कि वह नि:संतान है और काफी समय पहले पिरान कलियर गई, जहां उसकी मुलाकात किसी ने मसूद मदनी से कराई. मसूद मदनी ने बातचीत के बाद भरोसा दिलाया कि वह दवाई से उसकी मनचाही इच्छा पूरी करा देंगे.

उसने बताया कि मदनी ने होली के बाद अकेले आने की सलाह दी तो वह 16 मार्च को देवबंद पहुंच गई. उसने बताया कि मदनी ने तंत्र क्रिया के नाम पर दो बार दुष्कर्म किया और कहा कि जाओ, अब तुम्हे संतान हो जाएगी.

उसने बयान में यह भी कहा कि मैंने पुलिस में जाने की बात कही तो मसूद मदनी ने कहा कि देवबंद सहित पूरे हिन्दुस्तान में घूम लेना. हमारा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता. मदनी ने उसे 23 महिलाओं के फोटो दिखाकर दावा किया कि उसके इलाज से इन्हें बच्चे हो गए थे.

पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर महिला का मेडिकल परीक्षण कराया और शुक्रवार देर रात मसूद मदनी को गिरफ्तार कर लिया.

मदनी को जेल भेज दिया गया है. देवबंद में मामलें की गंभीरता को देखते हुए सतर्कता बढ़ा दी गई है. पुलिस के एक आला अफसर ने भी इस मामले की पुष्टि की है.

आरोपी जमीयत उलमा हिद का उत्तराखंड अध्यक्ष व हरिद्वार बचाओ संघर्ष समिति का संयोजक भी रह चुका है. मसूद मदनी जमीयत उलमा-ए-हिन्द के महासचिव मौलाना महमूद मदनी का सगा भाई है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY