केजरीवाल ने पंजाब की हार के लिए ईवीएम टेंपरिंग को जिम्मेदार कहा, माया 11 को मनाएंगी काला दिवस

नई दिल्ली. पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बसपा प्रमुख मायावती ने भाजपा पर मशीनों से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है.

दिल्ली के एमसीडी चुनाव में ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से मतदान करवाने की मांग करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सनसनीखेज आरोप लगाते हुए दावा किया कि पंजाब में ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ हुई है और उनके वोट भाजपा और अकाली दल को गए हैं.

वहीं मायावती ने उत्तरप्रदेश चुनाव नतीजों को लेकर कहा कि यह लोकतंत्र की हत्या की जीत है. मोदी 325 सीटें जीते लेकिन उनके चेहरे पर रौनक नजर नहीं आ रही थी.

माया ने कहा, जिस भाजपा ने मुस्लिम उम्मीदवार नहीं उतारे उसे मुस्लिम इलाकों से इतने ज्यादा वोट कैसे मिले. मायावती ने कहा कि वो अप्रैल से 11 तारीख को काला दिवस मनाएंगी और इस मामले को अदालत तक लेकर जाएंगी.

केजरीवाल ने दावा किया कि आम आदमी पार्टी को पंजाब के कई विधानसभा क्षेत्रों में उनकी पार्टी की स्थिति काफी अच्छी थी लेकिन उन्हें वोट ही नहीं मिले. यहां तक की जिन जगहों पर उनके 5-10 वॉलेंटियर्स थे वहां भी उनकी पार्टी को 1 या 2 ही वोट मिले हैं तो बाकी कार्यकर्ताओं के वोट कहां गए.

केजरीवाल ने आगे कहा कि कई लोग कह रहे थे कि पंजाब में भाजपा और अकालियों के खिलाफ गुस्सा था लेकिन इसके बावजूद आप को 25 प्रतिशत वोट मिले लेकिन अकालियों को 31 प्रतिशत वोट मिले, यह कैसे हो सकता है.

उन्होंने कहा, अगर ईवीएम में टेंपरिंग हो सकती है तो लोगों का चुनाव पर से भरोसा खत्म हो जाएगा. यह चुनाव आयोग को की जिम्मेदारी है कि वो लोगों का ईवीएम पर भरोसा बनाए रखा.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY