अमेरिका को नहीं बनने देंगे कट्टरपंथियों की शरणस्थली, यूएस कांग्रेस में बोले ट्रंप

वॉशिंगटन. डोनाल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रपति बनने के बाद अमेरिकी संसद यूएस कांग्रेस को पहली बार संबोधित किया. अमेरिकी कांग्रेस ने कंसास में एक भारतीय की हत्या को लेकर एक मिनट का मौन भी रखा.

ट्रंप ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा, ‘मैं अपने दिल से बात कर रहा हूं. नफरत के किसी भी रूप की हम निंदा करते हैं. कंसास शूटिंग और यहूदियों के सेंटर्स को निशाना बनाना गलत है. ISIS हर धर्म के लोगों का दुश्मन है. अपने साथियों की मदद से हम उसे खत्म कर देंगे.’

ट्रम्प ने कहा, ‘उम्मीदें रखते हुए हम नामुमकिन सपनों को भी पूरा कर सकते हैं. आज हम अमेरिकियों के जज़्बे को बदलते हुए देख रहे हैं. हमारे लिए सबसे अहम अमेरिकी नागरिक हैं. क्योंकि हम अमेरिका को फिर से महान बना सकते हैं.’

उन्होंने कहा कि इस्लामिक कट्टरपंथी आतंकवाद को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे. जिन लोगों को अमेरिका में आने का सम्मान मिला है उन्हें यहां अमेरिका का समर्थन और सहयोग करना चाहिए और यहां के मूल्यों का सम्मान करना चाहिए. हम अपने देश को कट्टरपंथियों की शरणस्थली नहीं बनने देंगे.

ट्रंप ने कहा, अमेरिका को अपने नागरिकों को आगे रखना होगा. मैं अमेरिकी कंपनियों और कामगरों का लाभ किसी और को उठाने नहीं दूंगा. उन्होंने कहा कि कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और कई अन्य देश मेरिट के आधार पर लोगों को आने देते हैं, हमें भी अपने यहां इमिग्रेशन नियमों में बदलाव करना होगा.

उल्लेखनीय है कि पद संभालने के बाद से ट्रंप ने इमिग्रेशन पर सख्ती की है. सात मुस्लिम देशों के लोगों और शरणार्थियों के अमेरिका में आने पर अस्थाई रोक लगाई लगाई है. ये सात देश हैं सीरिया, इराक, ईरान, यमन, सोमालिया, सूडान और लीबिया.

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने भाषण में ऐलान किया कि ओबामा प्रशासन द्वारा लागू किए गए ओबामा केयर को खत्म कर नए सुदृढ़ स्वास्थ्य योजना को लागू करेंगे. साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं पर बल दिया और रक्षा क्षेत्र में खर्च को बढ़ाने की बात कही है.

उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के लिए बजट में 10 प्रतिशत की दर से बढ़ाया जाएगा. ट्रंप ने साफ कर दिया कि उनकी नीति है, बाय अमेरिकन, हायर अमेरिकन, यानि अमेरिका की वस्तु खरीदो और अमेरिकन को नौकरी पर रखो.

ट्रंप ने कहा कि हम ऐसा देश हैं जो हमेशा एकता के साथ नफरत और बुराई की निंदा करता है. उन्होंने कहा कि आज मैं जो भी बोल रहा हूं वह अपने दिल से बोल रहा है. उन्होंने कहा कि वह एकता और ताकत का संदेश देने आए हैं.

उन्होंने कहा, हमने दूसरे देशों की सीमाओं की रक्षा की है और अपनी सीमाओं को खुला छोड़ा दिया ताकि कोई भी सीमा के भीतर आ सके. अमेरिका को अपने नागरिकों को पहले रखना होगा. इसी के बाद हम अमेरिका को सही मायने में फिर महान बना सकेंगे.

ट्रंप ने कहा कि देश में मरते उद्योगों को फिर से जिंदा किया जाएगा. देश के लिए अपनी सेवाओं को देने वालों का ध्यान रखा जाएगा. यह उनकी जरूरत भी है और हमारी जिम्मेदारी भी है. हमारे उपेक्षित छोटे शहरों में उम्मीद जगेगी, सुरक्षा और संभावनाएं बढ़ेंगी.

ट्रंप ने कहा कि हमने गैर-मिलिट्री और गैर जरूरी फेडरल कर्मचारियों की नियुक्तियों पर फिलहाल रोक लगा दी है. हमने सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार को साफ करने के लिए पांच साल तक लॉबिंग पर रोक लगा दी है.

उन्होंने कहा कि हमने ऐसे ट्रांस-पैसिफिक समझौतों से अमेरिका को हटा लिया है जिससे यहां पर नौकरियों को नुकसान हुआ है. अपने नागरिकों की रक्षा करना हमारा कर्तव्य है.

ट्रंप ने कहा कि मैंने न्याय विभाग को कहा है कि एक टास्क फोर्स तैयार करें जिससे हिंसक अपराधों में कमी आए. हम उन रास्तों को बंद करेंगे जहां से देश में ड्रग्स आती है और हमारे युवाओं को जहर दिया जा रहा है.

उन्होंने घोषणा की कि देश की दक्षिणी सीमाओं पर ग्रेट वॉल का निर्माण जल्द शुरू किया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘मैंने रक्षा मंत्रालय को निर्देश दिया है कि वह आईएसआईएस को मिटाने के लिए एक प्लान तैयार करें.’

ट्रंप ने कहा कि 94 मिलियन अमेरिकन बेरोजगार हैं. उन्होंने ओबामा प्रशासन की निंदा करते हुए कहा कि पिछले आठ सालों में जितना कर्जा हुआ है उतना सभी राष्ट्रपतियों के कार्यकाल में नहीं हुआ.

ट्रंप ने कहा कि जब से 8 नवंबर को परिणामों की घोषणा हुई तब से लेकर अब तक स्टॉक मार्केट में 3 ट्रिलियन डॉलर की तेजी आई है. यह एक रिकॉर्ड है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में हमारा ट्रेड घाटा 800 बिलियन डॉलर है और वर्तमान में अमेरिकी कंपनियों पर जो टैक्स दर है वह दुनिया में सबसे ज्यादा है.

ट्रंप ने कहा कि इमिग्रेशन नियमों को लागू करके हम अपने यहां वेतन बढ़ाएंगे, बेरोजगारों की मदद करेंगे और लाखों डॉलर की बचत करेंगे और अपने समुदाय को सुरक्षित बनाएंगे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY