समाजवादी पार्टी उम्मीदवार और रेप केस में आरोपी प्रजापति के घर पुलिस का छापा

लखनऊ. समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह के ख़ास माने जाने वाले और अखिलेश यादव कैबिनेट में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ रेप केस की जांच शुरू हो गई है. कुछ दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रजापति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

यूपी पुलिस की टीम लखनऊ में प्रजापति के घर पहुंची. पुलिस ने बताया कि प्रजापति से पूछताछ के लिए टीम उनके घर पहुंची. गायत्री प्रजापति अमेठी से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़े रहे हैं.

27 फरवरी को अमेठी सीट पर वोटिंग हुई थी, जिसके बाद आज लखनऊ में उनके आवास पर पुलिस पहुंची. माना जा रहा है कि प्रजापति के खिलाफ जल्द कार्रवाई हो सकती है.

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर पॉक्सो के साथ दुष्कर्म तथा शारीरिक उत्पीडऩ के आरोपी गायत्री प्रसाद प्रजापति के सरकारी आवास पर लखनऊ के गौतम पल्ली थाना की फोर्स के साथ पुलिस बल ने छापा मारा. उनके न मिलने पर घर पर मौजूद लोगों ने पूछताछ की गई.

मौके पर मौजूद अफसरों ने बताया कि वह जरूरी साक्ष्य जुटाने आए थे. थोड़ी देर रुकने के बाद पुलिस वापस चली गई. एसटीएफ के आईजी रामकुमार कहते हैं कि मामले से जुड़े जो भी साक्ष्य हैं, उन्हें जुटाया जा रहा है. कार्रवाई निश्चित होगी.

पिछले दिनों इस सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पीड़ित महिला ने सीजेएम कोर्ट में 164 के तहत अपना बयान दर्ज करा दिया. वहीं इसी मामले में गिरफ्तारी पर रोक के लिए गायत्री प्रसाद प्रजापति ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर रखी है, जिसकी सुनवाई 6 मार्च को होगी.

माना जा रहा है कि पुलिस की इस सक्रियता से दुष्कर्म के साथ कई मामलों के आरोपी गायत्री प्रसाद प्रजापति की गिरफ्तारी जल्दी हो सकती है. सरकार आवास के साथ ही पुलिस ने गायत्री प्रसाद प्रजापति के माल एवेन्यू के घर पर पुलिस बल ने छापा मारा.

परिवहन मंत्री गायत्री प्रजापति समेत उनके सात करीबियों पर दुष्कर्म समेत अन्य गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कराने वाली महिला ने जान का खतरा बताते हुए दिल्ली पहुंची लखनऊ पुलिस के साथ आने से इन्कार कर दिया. इसके बाद सीओ आलमबाग अमिता सिंह महिला के बयान लेने के लिए दिल्ली पहुंच गईं.

वहां मजिस्ट्रेट के सामने 164 के बयान दर्ज कराए गए. गौरतलब है कि 18 फरवरी सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गौतमपल्ली थाने में गायत्री प्रसाद प्रजापति समेत सात लोगों पर सामूहिक दुष्कर्म, दुष्कर्म का प्रयास, धमकी, पॉक्सो एक्ट समेत आइपीसी की अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY