अब ईसाई पादरी का फतवा : जींस-टीशर्ट पहनने वाली लड़कियों को समुद्र में डुबा दो

अपने स्त्री-विरोधी फतवों के लिए कुख्यात मुसलमानों के बाद अब तथाकथित उदार ईसाई मज़हब का भी कट्टरवादी चेहरा सामने आया है. एक ईसाई धर्मगुरु ने फतवा दिया है कि जींस, टी-शर्ट, शर्ट या फिर मर्दों के कपड़े पहनने वाली लड़कियों को समुद्र में डुबा देना चाहिए.

केरल में एक पादरी का वीडियो सामने आया है, जिसमें पादरी तुगलकी फरमान सुनाते हुए कह रहा है कि जींस, टी-शर्ट, शर्ट या फिर मर्दों के कपड़े पहनने वाली लड़कियों को समुद्र में डुबा देना चाहिए.

पादरी इस वीडियो में एक शर्मनाक बात कहते हुए आगे कहता है कि महिलाएं इस तरह के कपड़े सिर्फ पुरुषों को उकसाने के लिए पहनती हैं. जैसमिन पीके नाम की लड़की ने फेसबुक पर इस पादरी का यह वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो को शालोम टीवी से लिया गया है, लेकिन यह वीडियो 12 महीने पहले ही यू-ट्यूब पर डाला गया था.

इस वीडियो में यह पादरी कहते हुए सुनाई दे रहा है कि इस तरह के कपड़े पहनने वाली लड़कियों और महिलाओं के शरीर से पत्थर बांधकर उन्हें समुद्र में फेंक देना चाहिए. जब मैं किसी चर्च में प्रार्थना के लिए जाता हूं, खासकर पवित्र मास के लिए जाता हूं तो अपने सामने खड़ी कुछ महिलाओं के कारण मुझे लगता है कि चर्च से बाहर चला जाऊं.

पादरी ने कहा कि महिलाएं यह सब सिर्फ आकर्षण का केंद्र बनने के लिए करती हैं, यहां तक की चर्च जैसे स्थान पर भी. वह आकर्षण पाने के लिए जींस, टी-शर्ट, शर्ट, ट्राउज़र पहनकर जाती हैं. मोबाइल फोन उनके हाथ में होता है, बाल खुले रहते हैं. मुझे समझ नहीं आता है कि इन सब चीजों की चर्च में क्या जरुरत है.

वह सवाल करता है कि क्या कैथोलिक चर्च आपको पुरुषों के कपड़े पहनने की अनुमति देता है? चर्च को जाने दो. क्या पवित्र बाइबिल आपको इसकी इजाजत देती है?

फिर जवाब देते हुए कहता है कि मैं आपको बताना चाहूंगा कि बाइबिल क्या कहती है- मर्द को महिलाओं के कपड़े नहीं पहनने चाहिए और महिलाओं को पुरुषों के कपड़े नहीं पहनने चाहिए. अगर आप ऐसा करते हो तो आप भगवान का अपमान करते हो. अगर आप गॉड के खिलाफ जाते हो तो आपका दया क्यों चाहिए.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY