‘मिडिल ईस्ट’ का समझ भारतीय इंजीनियर को अमेरिका में गोली मारी, मौत

वॉशिंगटन. अमेरिका के ओलाथे में बुधवार की रात एक 32 वर्षीय भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. माना जा रहा है कि हमलावर ने किसी और के धोखे में भारतीयों के एक ग्रुप पर फायरिंग की.

भारतीयों को निशाना बनाकर की गई नौ राउंड फायरिंग में इंजीनियर श्रीनिवास की मौके पर ही मौत हो गई और दो अन्य भारतीय जख्मी हो गए. इनमें से एक भारतीय की हालत गंभीर है. यह घटना एक रेस्टोरेंट में हुई है.

51 वर्षीय आरोपी ऐडम पुरिनटोन को गिरफ्तार कर लिया गया है. अमेरिकी नौसेना में काम कर चुके पुरिनटोन ने शायद पहचान के अभाव में गोली चलाई, क्योंकि गोली चलाने के वक्त आरोपी ने कहा कि तुम ‘मिडिल ईस्ट‘ के लोग अमेरिका से निकल जाओ.

इस हमले में श्रीनिवास की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं 32 साल के इंजीनियर आलोक गंभीर रूप से घायल हुए हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है. इस हादसे को रोकने के लिए 24 साल के ईयान ग्रिलोट बीच में आए लेकिन हमलावर ने उसे भी नहीं छोड़ा और गोली मार दी. हालांकि उम्मीद है कि वह बच जाएंगे.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, ‘कैंसास में हुई गोलीबारी की घटना से हैरान हूं जिसमें श्रीनिवास कुचीभोतला मारे गए. मेरी संवेदनाएं मृतक के परिवार के साथ हैं. मैंने अमेरिका में भारत के राजदूत से बात की है. उन्होंने जानकारी दी कि भारतीय दूतावास के दो अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है.’

श्रीनिवास, अमेरिकी मल्टीनेश्नल कंपनी गार्मिन इंटरनेश्नल में काम करते हैं जो जीपीएस सिस्टम बनाती है. वह 2014 में इस कंपनी में शामिल हुए थे और उनकी पत्नी सुनयना दुमाला भी कनसास में ही एक टैक्नॉलोजी कंपनी में काम करती हैं.

गार्मिन इंटरनेश्नल की ओर से जारी एक बयान में इस हादसे पर अफसोस व्यक्त किया गया है और कहा गया है कि वह इन कर्मचारियों और उनके परिवार के लिए काउंस्लर उपलब्ध करवाएगी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY