ट्रंप ने फ्लिन की जगह मैकमास्टर को बनाया राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने माइकल फ्लिन के, पिछले सप्ताह दिए गए इस्तीफे के बाद लेफ्टिनेंट जनरल हरबर्ट रेमंड मैकमास्टर को अपना नया राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया है.

दिलचस्प बात है कि लेफ्टिनेंट जनरल मैकमास्टर अभी सेना में कार्यरत है. इस तरह यह अमेरिका के इतिहास में पहली बार है कि किसी सेवारत सैन्य अफसर को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद पर नियुक्त किया है.

ट्रंप ने फ्लोरिडा में अपने मार-ए-लागो आवास में इसकी घोषणा करते हुये कल मैकमास्टर को ‘अद्भुत प्रतिभा और अद्भुत अनुभव का धनी व्यक्ति बताया.’ वर्तमान में मैकमास्टर, आर्मी कैपेबिलिटीज इंटेग्रेशन सेंटर के निदेशक हैं.

इस बात का खुलासा होने के बाद कि फ्लिन ने अमेरिका में रूस के राजदूत के साथ प्रतिबंधों पर चर्चा के सबंध में उपराष्ट्रपति माइक पेंस को गुमराह किया है, ट्रंप ने फ्लिन से इस्तीका मांग लिया था. ट्रंप ने इस मामले को विश्वास का विषय करार दिया था.

ट्रंप ने कहा, ‘मैं सिर्फ यह घोषणा करना चाहता हूं कि जनरल एच आर मैकमास्टर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार होंगे. वह अद्भुत प्रतिभा और अनुभव के धनी व्यक्ति हैं.

उन्होंने लहा, ‘मैंने पिछले दो दिनों में बहुत कुछ देखा और पढ़ा है. सेना में हर व्यक्ति उनका बहुत सम्मान करता है. हम उन्हें शामिल कर बहुत सम्मानित महसूस कर रहे हैं.’

कार्यवाहक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल (सेवानिवृत्त) कीथ केलॉग अब ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा काउंसिल के चीफ ऑफ स्टाफ के रूप में काम करेंगे.

लेफ्टिनेंट जनरल मैकमास्‍टर को युद्ध का खासा अनुभव है। उन्‍हें एक अच्‍छा प्रशिक्षक माना जाता है. इराक में तैनाती के दौरान मैकमास्‍टर ने आर्म्‍ड कैवैलरी रेजीमेंट का नेतृत्व किया था। इसके अलावा उन्‍हें मोसुल का भी अच्‍छा खासा अनुभव है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY